* झाबुआ~ झाबुआ जिले के ग्रामीण अंचलों में सुरक्षित नहीं हरे भरे पेड़*

*तस्करों को नहीं खोफ प्रशासन ,पत्रकारों को दे रहे खुले आम धमकियां*~~

झाबुआ से दशरथ सिंह कट्ठा ब्युरो~~

झाबुआ - एक ओर प्रदेश के मुखिया माननीय कमलनाथ पत्रकारों के हितेषी है पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर काफी सजग है।पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर अधिकारियों को निर्देशित भी कर रखा है , वहीं उसके उल्टे झाबुआ जिले के मेघनगर के ग्राम रमभापुर की अगर बात करे तो यहां के टेंपो स्टैंड पर  हरे भरे पेड़ को काटा गया जिसका कवरेज मीडिया साथी द्वारा किया गया , इस कवरेज से बौखला कर वहीं के रहने वाले एक शक्स ने मीडिया कर्मी को अश्लील गाली या दी ओर धमकी दे डाली इतना ही नहीं इन जनाब ने मीडिया कर्मी के परिजन को लेकर भी अपशब्द कह डाले  इस बात की जानकारी लगते ही सभी मीडिया कर्मियों ने रम्भापुर चौकी पर जाकर सम्बन्धित व्यक्ति के खिलाफ आवेदन दिया और कार्यवाही किं मांग की साथ ही इस मामले में मेघनगर थाना प्रभारी हीरालाल मालीवाड़ से भी चर्चा की गई ,उन्होंने उचित कार्यवाही का आश्वसन दिया।इस मामले को लेकर पत्रकार संगठन मेघनगर द्वारा भी निंदा प्रस्ताव पारित कर दोषी  व्यक्ति के खिलाफ कार्यवाही की मांग की गई। अब देखना है कि इस मामले को लेकर ,पुलिस क्या कार्यवाही करती है। क्या वास्तव में प्रदेश के मुखिया के दिए गए वचन का सही पालन होता है..या पत्रकारों का हनन हमेशा होता रहेगा। यह आने वाले दिनों में प्रशासनिक कार्रवाई के बाद ही पता लग पाएगा।


Post A Comment:

0 comments: