बड़वानी~सूर्य नमस्कार सम्पूर्ण व्यायाम का सार है-श्री गुजराती~~

बड़वानी /स्वस्थ्य शरीर में स्वस्थ्य मस्तिष्क का वास होता है। विद्यार्थी जीवन में अध्ययन, स्मरण शक्ति व एकाग्रता को बढ़ाने में विभिन्न योगाभ्यास सहायक होते है। सूर्य नमस्कार सम्पूर्ण व्यायाम का सार है। इसके सभी 12 चरण करने से सम्पूर्ण शरीर के प्रत्येक हिस्से का व्यायाम हो जाता है। अतः प्रत्येक विद्यार्थी को इसे अपने दैनिक जीवन में शुमार करना चाहिए।
शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय बड़वानी के ग्राम सजवानी में लगे राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के सात दिवासीय शिविर के पांचवे दिवस सुबह शिविरार्थियों को योग कराने के दौरान उक्त बाते कार्यक्रम अधिकारी श्री जगदीश गुजराती द्वारा कही गई।


Post A Comment:

0 comments: