।।  *सुप्रभातम्*  ।।
               ।।  *संस्था  जय  हो*  ।।
        ।।  *दैनिक  राशि  -  फल*  ।।
        आज दिनांक 09 दिसंबर 2019 सोमवार संवत् 2076 मास मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि प्रातः 09:56 बजे तक रहेगी उपरांत त्रयोदशी तिथि लगेगी । आज सूर्योदय प्रातः काल 07:04 बजे एवं सूर्यास्त सायं 05:35 बजे होगा । भरणी नक्षत्र  मध्य रात्रि पश्चात एवं सूर्योदय पूर्व प्रातः 04:38 बजे तक रहेंगा पश्चात कृतिका नक्षत्र आरंभ होगा । आज का चंद्रमा मेष राशि में दिन रात भ्रमण करते रहेंगे । आज का राहू काल प्रातः  08:21 से 09:40 बजे तक रहेंगा । दिशाशूल पूर्व दिशा में रहेंगा यदि आवश्यक हो तो दर्पण देख कर यात्रा आरंभ करें । जय हो

                -:  *विशेष*  :-

  *आज रखें सोम प्रदोष व्रत, मिलेगा विशेष पुण्य*
आज 9 दिसम्बर को श्रद्धालु विशेषकर स्त्रियां सोम प्रदोष व्रत रखेंगी। प्रदोष का तात्पर्य है रात का शुभारम्भ। इसी बेला में पूजन होने के कारण प्रदोष नाम से विख्यात हैं। प्रत्येक पक्ष की त्रयोदशी को होने वाला यह व्रत संतान कामना प्रधान हैं। इस व्रत के मुख्य देवता आशुतोष भगवान शंकर माने जाते हैं।
व्रत रखने वालों को शाम को शिवजी की पूजा करके अल्प आहार लेना चाहिए. कृष्ण पक्ष का शनि प्रदोष विशेष पुण्यदानी होता हैं। शंकर भगवान का दिन सोमवार होने के कारण इस दिन पडऩे वाला प्रदोष सोमप्रदोष कहा जाता है।
              *सोम प्रदोष व्रत कथा*

प्राचीनकाल में एक गरीब ब्राह्मणी अपने पति के मर जाने पर विधवा होकर इधर उधर भीख मांग कर अपना निर्वाह करने लगी. उसके एक पुत्र भी था. जिसको वह सवेरे अपने साथ लेकर घर से निकल जाती और सूर्य डूबने पर वापिस घर आती. एक दिन उसकी भेंट विदर्भ के राजकुमार से हुई।
जो अपने पिता की मृत्यु के कारण मारा मारा फिर रहा था. ब्राह्मणी को उसकी दशा देखकर उस पर दया आ गई. वह उसे अपने घर ले आई तथा प्रदोषव्रत करने लगी.
एक दिन वह ब्राह्मणी दोनों बालकों को लेकर शांडिल्य ऋषि के आश्रम में गई और उनसे भगवान् शंकर के पूजन की विधि जानकर लौट आई तथा प्रदोष व्रत करने लगी. एक दिन बालक वन में घूम रहे थे. वहां उन्होंने गंधर्व कन्याओं को क्रीड़ा करते देखा।
ब्राह्मण राजकुमार तो घर लौट आया किन्तु राजकुमार गंधर्व कन्या से बातें करने लगा. उस कन्या का नाम अंशुमती था. उस दिन राजकुमार देरी से लौटा. दूसरे दिन फिर राजकुमार उस जगह पर पंहुचा. जहाँ अंशुमती अपने पिता के साथ बैठी बातें कर रही थी.
राजकुमार को देखकर अंशुमती के पिता ने कहा कि तुम विदर्भ नगर के राजकुमार हो तथा तुम्हारा नाम धर्मगुप्त हैं. भगवान् शंकर की आज्ञा से हम अपनी कन्या अंशुमती का विवाह तुम्हारे साथ करेगे. राजकुमार ने स्वीकृति दे दी और उनका विवाह अंशुमती के साथ हो गया.
बाद में राजकुमार ने गंधर्व राजा विद्रविक की विशाल सेना लेकर विदर्भ पर चढ़ाई कर दी. घमासान युद्ध हुआ. राजकुमार विजयी हुए और स्वयं पत्नी सहित वहां राज्य करने लगे. उसने ब्राह्मणी को पुत्र सहित अपने राजमहल में आदर के साथ रखा, जिससे उनके सारे दु:ख दूर हो गये.एक दिन अंशुमती ने राजकुमार से पूछा कि यह सब कैसे हुए. तब राजकुमार ने कहा कि यह सब प्रदोषव्रत के पुण्य का फल हैं. उसी दिन से प्रदोष व्रत का महत्व बढ़ गया।

                  *व्रत विधि*
प्रदोष काल उस समय को कहते हैं जो सायंकाल अर्थात दिन अस्त होने बाद और रात से पहले का समय प्रदोष समय कहलाता हैं इसे गोधूली वेला कहा जाता हैं. सोम प्रदोष व्रत की पूजा सायं गोरज समय पर की जाती हैं । सोम प्रदोष व्रत की पूजा करने वाले भक्त इस समय में ही भगवान् शिव की पूजा अर्चना की जाती हैं। यह पूर्ण रूप से निराहार किया जाता हैं व्रत के दौरान फलाहार भी निषेध हैं.
सुबह स्नान कर भगवान शंकर को बेलपत्र, गंगाजल, अक्षत, धूप, दीप आदि चढ़ाएं और पूजा करें. मन में व्रत रखने का संकल्प लें। शाम को एक बार फिर स्नान कर भोलेनाथ की पूजा करें और दीप जलाएं. शाम को प्रदोष व्रत कथा सुनें। जय हो

                   *ज्योतिषाचार्य*
          डाँ. पं. अशोक नारायण शास्त्री
         श्री मंगलप्रद् ज्योतिष कार्यालय
245,एम.जी.रोड (आनंद चौपाटी) धार, एम.पी.
                  मो. नं.  9425491351

                   *आज का राशि फल* 

          मेष :~ आपके हर कार्य में उत्साह और उमंग छलकता हुआ प्रतीत होगा। तन-मन में स्फूर्ति और ताजगी का अनुभव करेंगे। पारिवारिक वातावरण खुशहाल रहेगा। मित्रों और स्नेहीजनों के साथ आनंद में समय व्यतीत होगा। माता की तरफ से लाभ होगा। यात्रा का योग है। धन लाभ, उत्तम भोजन और भेंट- उपहार मिलने से आपके आनंद में वृद्धि होगी।

          वृषभ :~ क्रोध और हताशा की भावना आपके मन पर छायी रहेगी। शारीरिक स्वास्थ्य भी साथ नहीं देगा। घर- परिवार की चिंता के साथ खर्च के मामले में भी आज चिंतित होंगे। आपकी उग्रवाणी किसी के साथ मनमुटाव और झगड़े का कारण बनेगा। परिश्रम व्यर्थ होता हुआ प्रतीत होगा। 

          मिथुन :~ परिवार में खुशी और आनंद का माहौल रहेगा। नौकरी- धंधे में आपको लाभ का समाचार मिलेगा। उच्च पदाधिकारीगण आपके कार्यों की प्रशंसा करेंगे। स्त्री मित्रों से विशेष लाभ होगा। आय वृद्धि की संभावना हैं। संतानों की तरफ से शुभ समाचार मिलेगा।

          कर्क :~ घर की साज-सजावट पर विशेष ध्यान देंगे। नए घरेलू सामान खरीदने की संभावना है। व्यापारियों और नौकरी करने वाले लाभ तथा पदोन्नति की आशा रख सकते हैं। पारिवारिक सुख-शांति बनी रहेगी। सरकारी लाभ मिलेगा। आपकी मान- प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। आर्थिक लाभ होगा। आज सभी कार्य स्वस्थता और सरलता पूर्वक पूरे हो सकेंगे।

          सिंह :~ स्वभाव में उग्रता और क्रोध रहने के कारण आपको काम करने में मन नहीं लगेगा। वाद-विवाद में अपने अहम के कारण किसी की नाराजगी झेलनी पड़ेगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें । जल्दी में निर्णय लेने या कदम उठाने से नुकसान होने की संभावना है। नौकरी धंधा के क्षेत्र में अवरोध आने से निर्धारित कार्य पूरे नहीं कर सकेंगे।

          कन्या :~ आज नए कार्य हाथ में लेना हितकर नहीं है। बाह्य खाद्य पदार्थ खाने से तबीयत खराब होने की संभावना है। क्रोध को नियंत्रण में रखने के लिए मौन का शस्त्र अधिक कारगर साबित होगा। धन खर्च अधिक होगा। हितशत्रु आपका अहित न करें इसका ध्यान रखें। आग और पानी से बचें। सरकार विरोधी या अनैतिक प्रवृत्तियाँ आफत खड़ी न करें ध्यान रखें।

          तुला :~ सार्वजनिक जीवन में आप महत्ता प्राप्त करेंगे। यश और कीर्ति में वृद्धि होगी। भागीदारों के साथ लाभ की बात होगी। सुंदर वस्त्र या वस्त्राभूषणों की खरीदारी करेंगे। तंदुरुस्ती और मानसिक स्वस्थता बनी रहेगी। मित्रों के साथ पर्यटन होगा।

          वृश्चिक :~ पारिवारिक शांति का माहौल आपके तन-मन को स्वस्थ रखेगा। निर्धारित काम में सफलता मिलेगी। नौकरी में साथी कर्मचारियों का सहयोग मिलेगा। प्रतिस्पर्धियों और शत्रुओं की चाल निष्फल जाएगी। आर्थिक लाभ होगा। आश्चर्य कार्य में खर्च होगा। बीमार व्यक्तियों के स्वास्थ्य में सुधार होता हुआ प्रतीत होगा ।

          धनु :~ कार्य निष्फलता हताशा पैदा करेगी और आपको क्रोधित करेगी। परंतु क्रोध को नियंत्रण में रखने से बात अधिक नहीं बिगड़ेगी। पेट सम्बंधी बीमारियों से परेशानी होगी। वाद-विवाद या चर्चा में पड़ने से समस्या पैदा होगी। संतानों के मामले में चिंता पैदा होगी धन- प्राप्ति के लिए अनुकूल दिन है।

          मकर :~ कौटुंबिक क्लेश आपके मन को व्यथित करेंगे। माता का स्वास्थ्य चिंता पैदा कर सकता है। सार्वजनिक जीवन में अपयश या अपकीर्ति आपकी मान- प्रतिष्ठा को हानि पहुचाएँगे। पर्याप्त आराम और नींद न मिलने से स्वास्थ्य खराब होगा। ताजगी तथा स्फूर्ति का अभाव रहेगा। स्त्री वर्ग से नुकसान होने का भय है।

          कुंभ :~ आज आपका मन बहुत राहत महसूस करेगा। शारीरिक स्वस्थता आपके उत्साह में वृद्धि करेगा। पड़ोसियों और भाई बहनों के साथ अधिक मेल-मिलाप रहेगा। घर में मित्रों और स्नेहियों का आगमन आनंददायी बनेगा। प्रवास होने की संभावना है। प्रिय व्यक्ति का सहवास और भाग्य वृद्धि का योग है।

          मीन :~ खर्च के अतिरिक्त क्रोध और जीभ पर संयम रखें । किसी के साथ तकरार होगी । आर्थिक मामले या लेन-देन में सावधानी रखें। पारिवारिक सदस्यों के साथ झगड़े होंगे। नकारात्मक विचार मन पर छाए रहेंगे । कार्य  पूरा करने के लिए प्रयत्न करने पड़ेंगे। खाने- पीने में लापरवाही से स्वास्थ्य खराब होने की संभावना है। ( डाँ. अशोक शास्त्री )

।।  शुभम् भवतु  ।।  जय  सियाराम  ।।
।।  जय  श्री  कृष्ण  ।।  जय  गुरुदेव  ।।


Post A Comment:

0 comments: