बड़वानी~नाबालिग बालिका को शादी झांसा देकर, दुष्कर्म़ करने वाले आरोपी को 10 वर्ष की सजा~~

बड़वानी /द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश श्रीमती कृष्णा परस्ते सेंधवा द्वारा अपने फैसले मे आरोपी द्वारा नाबालिग बालिका से दुष्कर्म के आरोप मे आरोपी सुनिल पिता खूमसिंह बारेला निवासी मोगरीखेड़ा निवाली को धारा 376(2)1, 376(2)(एन) भादवि में 10 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 2000-2000 रूपये जुर्माना, धारा 5/6 लैगिक अपराधों से बालको सरंक्षण अधिनियम मे 10 वर्ष का कठोर कारावास एवं 2000 रूपये जुर्माने धारा 363, 366 भादवि में 3-3 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 200-200 रूपये जुर्माना, 506 बी भादवि में 1 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 200 रूपये एवं 323 भादवि में 6 माह का सश्रम कारावास एवं 200 रूपये से दण्डित किया। अभियोजन की ओर से पैरवी श्री संजयपाल मौरे विशष लोक अभियोजक एवं श्रीमती इंदिरा चैहान विशष लोक अभियोजक, सेंधवा द्वारा की गई। 
  अभियोजन मीडिया प्रभारी सुश्री कीर्ति चैहान सहायक जिला अभियोजन अधिकारी बड़वानी द्वारा बताया गया कि घटना दिनांक 06.03.2019 को दोपहर के समय पीड़िता अपने खेत के पास स्थित नाले में बकरिया चराने गई थी तब आरोपी सुनिल मोटर साईकिल लेकर वहाॅ आया और पीड़िता को शादी का लालच देकर व बहला फुसलाकर जबरदस्ती भगाकर ले गया । पीड़िता ने आने बाद घटना की जानकारी अपने पिता को दी। पीडिता के पिता के द्वारा थाना निवाली पर रिपोर्ट की गई।   
      रिपोर्ट पर से थाना निवाली द्वारा धारा 376(2)1, 376(2)(एन),363,366,323,506 भादवि एवं धारा 5/6 पाक्सो एक्ट में लैगिक अपराधों से बालको सरंक्षण अधिनियम 2012 मे विवेचना उपरांत माननीय न्यायालय मे चालान पेश किया गया।


Post A Comment:

0 comments: