*राजपुर~डॉ. अंबेडकर के 63 वें परिनिर्वाण दिवस के मौके पर अंबेडकरवादियों ने किया नमन*~~

*भारत को लोकतांत्रिक गणराज्य बनाने में बाबा साहब का अहम योगदान____सचिन पटेल*~~

(राजपुर) भारत रत्न, भारतीय संविधान के निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर के 63वें महापरिनिर्वाण दिवस पर उनके अनुयायीयों द्वारा उन्हें याद किया गया। सामाजिक संगठनों व गणमान्य नागरिको व विद्यार्थीयों द्वारा तहसील कार्यालय परिसर में स्थापित बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित उन्हें नमन किया।
इस अवसर पर छात्र नेता सचिन पटेल कहा कि बाबा साहेब ने संविधान की रचना कर देश को एक नई राह, ओर हर समाज को समानता का अधिकार दिया था। जो इस देश की सभ्यता है। उनके देश के लिए किए गए योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता।

        उन्होने बताया कि आज ही के दिन 6 दिसंबर 1956 को नई दिल्ली के 26 अलीपुर रोड में बाबासाहेब आंबेडकर ने अपने जीवन के अंतिम सांस ली थी। जिसे  परिनिर्वाण भूमि के नाम से  जाना जाता है और आज के दिन इसी जगह पर हर साल लाखों की संख्या में उनके अनुयायी इस भुमि पर लोग दर्शन कर श्रध्दांजली अर्पित करते है।
इस दौरान अजाक्स के ब्लॉक अध्यक्ष रमेशचंद्र मुकेश, कांतिलाल बमनका, उपाध्यक्ष कड़वा वाशिंदे, राजपुर थाना प्रभारी अनिल बामनिया,नायब तहसीलदार स्नेहलता चौहान, राजस्व निरिक्षक महेश डावर, एडवोकेट भूपेंद्र ठाकुर, सुनील निंगवाल, सुखलाल गोरे, ज्योति गोरे, नसोसवायएफ के संभाग प्रभारी सचिन पटेल, अखिलेश बघेल, दिनेश चौहान, बालकृष्ण बाविस्कर,श्याम मुकेश, राजा नामदेव, सफाई दरोगा सीताराम दिगे,अजय दिगे,विशाल गुरु, संदीप, महेश समेत बड़ी संख्या में भी मौजूद थे।


सचिन पटेल,
9691515815.


Post A Comment:

0 comments: