राजोद~मध्यप्रदेश शिक्षक संघ ने ज्ञापन दिया~~

पवन वीर राजोद 9993688124~~

अभी हाल ही में आयुक्त लोक शिक्षण संचालनालय भोपाल के आदेश क्र./3465 /दि.30.11.19 द्वारा 16 शिक्षको के विरुद्ध  एक पक्षीय दण्डात्मक कार्यवाही करते हुए 20 वर्ष की सेवा एवं 50 वर्ष की उम्र पूर्ण करने पर 20-50  फार्मूला के तहत अनिवार्य सेवानिवृति दी गई है ,जो न्यायोचित नहीं है ।
यद्यपि म प्र शिक्षक संघ , राष्ट्रहित, शिक्षाहित, छात्रहित, शिक्षकहित में कार्य करने वाला संघटन होकर शैक्षिक गुणवत्ता  एवं शिक्षको की कर्मठता का सदैव पक्षधर रहा है । किन्तु आयुक्त लोकशिक्षण द्वारा हड़बड़ी में जिस प्रकार की एक पक्षीय कार्यवाही की गई है , संघटन उसका पुरजोर विरोध करता है । शिक्षकों का पक्ष सुने बिना अनिवार्य सेवानिवृति जैसा दण्ड प्राकृतिक न्याय के सिद्धान्तों के विपरीत है ।
         अतः म प्र शिक्षक संघ धार स्कुल शिक्षा विभाग द्वारा की जा रही इस प्रकार मनमानी एवं तानाशाही पूर्ण कार्यवाही पर तत्काल रोक लगाई जाने एवं सभी अनिवार्य सेवानिवृत्त शिक्षकों के सेवानिवृति आदेश वापस लिये जाने हेतु दिनांक 4.12.2019 को माननीय मुख्यमंत्री महोदय एवं माननीय शिक्षामंत्री के नाम ज्ञापन माननीय  अनुविभागीय अधिकारी राजस्व महोदय को  सौपा गया।ज्ञापन का वाचन मध्यप्रदेश शिक्षक संघ धार के जिलाध्यक्ष मनमोहन उपाध्याय ने  किया ।ज्ञापन के संघ के संरक्षक श्री मोहनलाल यादव संघ सचिव श्री विनोद कुमार पंड्या, कोषाध्यक्ष श्री मुकेश कुमार पुरोहित, उपाध्यक्ष श्री बी एल पाटीदार श्री लालचन्द पाटीदार, सरदारपुर तहसील अध्यक्ष महेंद्र प्रताप सिंह राठोर, ब्लाक अध्यक्ष रमाकांत देराश्री, बदनावर अध्यक्ष बगदीराम कावल्या,धरमपुरी अध्यक्ष श्यामलाल केवट, कमलसिंह चौहान, अबरार खान ,मडिया भाभर रमेश चंद्र चौहान सरफराज कुरैशी, मोहन लाल डामर आदि सैकड़ो शिक्षक उपस्थित थे।


Post A Comment:

0 comments: