*मनावर~मध्यप्रदेश  में  शीघ्र लागू होगा पत्रकार सुरक्षा कानून: श्री बघेल*~~

*पर्यटन विकास निगम की होटलों और संस्थानों में पत्रकारों को मिलेगी रियायत: श्री बघेल*~~

*धार जिला पत्रकार संघ को प्रेस क्लब ऑफ़  इंडिया ने दी मान्यता, बना देश का तीसरा जिला*~~

*धार पत्रकारिता का तीर्थ - राजेश  बादल* ~~
                                 
*स्वागत भाषण धार जिला पत्रकार संघ के अध्यक्ष प. छोटू शास्त्री ने दिया*~~

मनावर से निलेश जैन ~~

धार जिले की तरह प्रदेश भर में पत्रकार विषम परिस्थितियों और चुनौतियों के बीच में पत्रकारिता की ध्वज पताका थामे हुए है। प्रदेश सरकार लोकतंत्र के इस महत्वपूर्ण चैथे स्तंभ और पत्रकारों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। इसी दिशा में प्रदेश सरकार जल्द ही पत्रकार प्रोटेक्शन एक्ट लाने जा रही है। प्रदेश सरकार प्रदेश के पत्रकारों के लिए हर तरह से संवेदनशील निर्णय ले रही है। प्रदेश में पर्यटन को बढावा देने तथा प्रदेश को पर्यटन प्रदेश बनाने की दिशा में सरकार पत्रकारों से न केवल सुझाव ले रही है, बल्कि प्रदेश के पर्यटन केन्द्रों का अवलोकन करने के लिए भी जिले सहित प्रदेश  के पत्रकारों को आमंत्रित कर रही है। पर्यटन विभाग टूरिस्ट होटलों एवं काॅटेज में पत्रकारों को विशेष रूप से रियायत देने के आदेश जारी किए जा रहे है। प्रदेश  को देश के पर्यटन मानचित्र पर लाने के लिए भी प्रदेश  सरकार प्रतिबद्ध है। उक्त उद्गार प्रदेश के पर्यटन एवं नर्मदा घाटी विकास मंत्री सुरेन्द्रसिंह बघेल ने धार जिला पत्रकार संघ द्वारा आयोजित छठवे शब्द समागम 2019 में मुख्य अतिथि के रूप में व्यक्त किए। रविवार को धार के आडीटोरियम हाॅल में आयोजित शब्द समागम 2019 की अध्यक्षता राज्यसभा टीवी के पूर्व एडिटर इन चीफ, वरिष्ठ पत्रकार राजेश बादल ने की। विशेष अतिथि के रूप में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक इंदौर जोन डाॅ. वरूण कपूर, प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया के सचिव संजय सिंह, धार-महू लोकसभा क्षेत्र के सांसद छतरसिंह दबार, सरदारपुर विधायक प्रताप ग्रेवाल, सुबह सवेरे के संपादक हेमंत पाल थे। मंच पर देवेन्द्र काशिव, सुधा शर्मा, धार जिला पत्रकार संघ की संरक्षक पुष्पा शर्मा भी मंचासीन थी। सभी अतिथियों का मालवा संस्कृति की परंपरानुसार साफे व स्मृति चिन्ह देकर स्वागत किया गया। स्वागत भाषण धार जिला पत्रकार संघ के अध्यक्ष प. छोटू शास्त्री ने दिया। अतिथियों द्वारा धार की धड़कन नामक स्मारिका का विमोचन किया गया। इस अवसर पर जिलेभर के 800 पत्रकारों को पांच-पांच लाख की बीमा पालिसी का वितरण किया गया।
धार पत्रकारिता का तीर्थ है - राजेश  बादल शब्द समागम कार्यक्रम में दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार राज्यसभा टीवी के एडिटर इन चीफ राजेश बादल ने वरिष्ठ संपादक स्व. राजेन्द्र माथुर के पत्रकारिता के योगदान और उनकी संपादन क्षमता को साझा करते हुए कहां कि धार जिला पत्रकारिता का तीर्थ है। इस जिले ने भारतीय पत्रकारिता को तीन दशक तक नई दिशा और दशा दी है। आप सौभाग्यशाली है कि आप इस जिले में पत्रकारिता कर रहे है, जिसने देश दुनिया का मार्गदर्शन किया है। बगैर संघर्ष की पत्रकारिता पत्रकारिता नहीं है चापलूसी है और पत्रकार को संघर्षशील होना जरूरी है। ग्रामीण पत्रकारिता के बदलते स्वरूप पर अपने विचार रखते हुए उन्होने कहा कि वर्तमान में पत्रकारिता सही मायनों में ग्रामीण स्तर पर ही की जा रही है। देश का तीसरा जिला बना धार जिसे प्रेस क्लब ऑफ़  इंडिया ने दी मान्यता कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के सचिव संजयसिंह (दिल्ली) ने कहा कि धार जिला पत्रकार संघ जिस तरह पत्रकारों के लिए सजगता के साथ कार्य कर रहा है, वह काबिले तारीफ है। वहीं उन्होंने मंच से घोषणा की कि अब धार जिला पत्रकार संघ प्रेस क्लब ऑफ इंडिया दिल्ली से जुड गया है। अभी तक इस तरह की मान्यता प्रदेश की राजधानियों के प्रेस क्लबों को ही दी जाती थी। वहीं जिले में मध्यप्रदेश के इंदौर, उत्तर प्रदेश के गौरखपुर के बाद अब आपका यह धार जिला ऐसा तीसरा जिला होगा जो सीधे प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया से जुड जाएगा और वहां जो पत्रकारों को सुविधाएं मिल रही है वह धार जिला पत्रकार संघ के माध्यम से आपको भी मिलेगी।अंजाने में कई बार सायबर क्राईम में उलझते जाते हैl इंदौर जोन के एडीजी डाॅ. वरूण कपूर ने समाज में सोशल मीडिया की भूमिका व कुप्रभाव को लेकर अपने विचार रखे। विषय पर प्रवर्तन करते हुए डाॅ. वरूण कपूर ने सायबर अपराध को आज की बडी चुनौती बताते हुए कहा कि हम दो तरह की जिंदगी जी रहे है। वास्तविक जिंदगी और वर्चुअल जिंदगी। वास्तविक जिंदगी में हम अनेक सावधानी रखते है, लेकिन वर्चुअल जिंदगी अर्थात् सायबर और उससे होने वाले खतरों से निपटने के लिए हम सावधानी नहीं अपनाते है। यहीं कारण है कि अंजाने में कहीं बार सायबर क्राईम में उलझते जाते है। उन्होंने कई सेमिनारों और गोष्ठियों का हवाला देते हुए बताया कि सायबर क्राईम से बचने के लिए हमे वर्चुअल जीवन में सावधानी बतौर कुछ सूत्र बताए। श्री वरूण कपूर ने बताया कि वर्तमान परिस्थितियों में हम पूरी तरीके से सोशल मीडिया और मोबाईल पर आश्रित हो गए है। ऐसे में सायबर क्राईम काफी तेजी से बढता जा रहा है। जिससे बचने के लिए जागरूकता सबसे जरूरी हथियार है। साथ ही उन्होंने किस तरह से सायबर क्राईम से बचने के लिए क्या-क्या उपाय किए जा सकते है। उसको लेकर विस्तार से जानकारी बताई। पत्रकार समाज का आईना है धार-महू सांसद छतरसिंह दरबार ने कार्यक्रम में पत्रकारिता समाज के लिए महत्वपूर्ण है इसको लेकर अपने विचार रखे। सांसद दरबार ने कहा कि पत्रकार व पत्रकारिता दोनों वर्तमान परिस्थितियों में समाज के लिए एक आईना है। कई बार हम जैसे जनप्रतिनिधियों को भी अखबार या टेलीविजन के माध्यम से ही हमारी कमियों के बारे में जानकारी होती है और हम उसे दुरस्त करते है। साथ ही समाज व देष के लिए पत्रकारिता एक ऐसा माध्यम है कि जिससे हम गांव से लेकर देष से जुडे रहते है। पत्रकारों से उन्होंने आव्हान किया कि आप सब पत्रकारिता का धर्म निभाते हुए हमे हमारी कमियों को स्वच्छ भाव से बताए। इस अवसर पर सरदारपुर विधायक प्रताप ग्रेवाल ने ग्रामीण पत्रकारिता की चुनौती को लेकर अपनी बात रखी। धार जिले के पत्रकार किन विषम परस्थितियों में कार्य कर रहे है इस बात को भी उन्होंने मंच से साझा किया। पत्रकारों की भूमिका का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि कई मुद्दे सरकार और जनप्रतिनधियों के संज्ञान में नहीं आते है किन्तु पत्रकारों ने पत्रकार धर्म निभाते हुए इन मुद्दो पर विशेष ध्यान आकर्षित करवाया है। इस अवसर पर अमझेरा व नागदा प्रेस क्लब द्वारा अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट किए गए। कार्यक्रम का संचालन धार जिला पत्रकार संघ के महासचिव प्रदीप अगाल ने किया। धार में आयोजित शब्द समागम समारोह में प्रसिद्ध पत्रकार राजेश बादल को मनावर के पत्रकार स्वप्निल शर्मा,नईदुनिया धार के ब्यारो चीफ प्रेमविजय पाटिल द्वारा  सम्मानित किया गया। आभार धार जिला पत्रकार संघ की संरक्षक पुष्पा शर्मा ने व्यक्त किया।


Post A Comment:

0 comments: