बड़वानी~बाल अधिकार आयोग के समक्ष किड्स फोर्स की बालिका ने सम्मान के साथ रखी अधिकार की बात~~

किड्स फोर्स की बालिका ने बाल आयोग के अध्यक्ष के समक्ष प्रस्तुत की अपनी कविता पाठ~~

बड़वानी / बाल आयोग के समक्ष किड्स फोर्स की बालिका ने सम्मान के साथ रखी अधिकार की बात। शिक्षा दीप की ज्योति से रोशन होगा हर ग्राम, बच्चा-बच्चा बोलेगा पढ़ना है बस काम। कुछ इस तरह की प्रेरक कविताओं का संग्रह जब राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष श्री प्रियंक कानूनगो को बालिका कुमारी शांभवी दुबे ने अपनी ‘‘ काज की कविता ‘‘ की पुस्तक  भेंट किया तो वह भी बच्चों के किड्स फोर्स की प्रशंसा करने से पीछे नहीं रहे। साथ ही  उन्होंने आशादीप सोशल किड्स फोर्स के विषय में संयोजक शांभवी दुबे से जानकारी प्राप्त कर सामाजिक संवेदनाओं के साथ बच्चों के लिए किए जा रहे कार्यों की सराहना कर, उनका उत्साहवर्धन  भी किया। वही किड्स फोर्स की संयोजक कुमारी शांभवी की गति काज की कविता को प्रेरक दायक  भी बताया ।
       इस अवसर पर किड्स फोर्स के साथ आए परियोजना निदेशक श्री मनीष पाटीदार ने भी विशेष आवश्यकता वाले बच्चों के लिए कक्षा आठवीं के बाद,  जिले में बच्चों के आवासीय व्यवस्था एवं  हायर सेकेंडरी स्कूल ना होने से विशेष बच्चों को होने वाली कठिनाइयों के बारे में बताया । वही आशा बाल मंदिर की प्राचार्य सिस्टर सुसु के साथ आशाग्राम ट्रस्ट के पीआरओ श्री सचिन दुबे ने भी प्राथमिक विद्यालय में मध्यान भोजन नहीं मिलने की लिखित शिकायत की। जिस पर आयोग के द्वारा टोकन प्रदान कर दिल्ली से संज्ञान लेकर समस्या निराकरण कराने की बात कही गई।


Post A Comment:

0 comments: