*बड़ी खट्टाली ~नशा एक ऐसी सामाजिक बुराई है जिसके दुष्परिणाम बहुत गंभीर है -डॉ.प्रमेय रेवड़ीया*~~

*खट्टाली में हुआ तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम*~~

बड़ी खट्टाली ~नशा एक ऐसी सामाजिक और घातक बुराई है जिसके दुष्परिणाम सभी जानते हैं लेकिन इसे छोड़ना कोई नहीं चाहता नशा करना है तो ऐसा करो जिससे नाम और शौकत मिले परिवार और समाज में नाम हो यह बात बुधवार को बालक शासकीय माध्यमिक विद्यालय बड़ी खट्टाली मैं कार्यक्रम के दौरान दंत चिकित्सक डॉक्टर प्रमेय रेवडिया ने बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए कही ।
उन्होंने कहा नशे की जकड़ में सबसे ज्यादा युवा पीढ़ी है बच्चों में भी इसका चलन बढ़ा है लोग इसका सेवन शोक व मौज मस्ती  के तौर पर करते हैं लेकिन धीरे-धीरे यह आदत बन जाता है। आदत ऐसी जिसके बिना रहना मुश्किल हो जाता है। घर में लोगों को भले ही खाने को भोजन में मिले या ना मिले   लेकिन नशे की जुगाड़ कर लेते है ।
दांपत्य जीवन में भी इसका असर पड़ता है इसे समय रहते ही छोड़ने में भलाई है तंबाकू में  निकोटिन होता है उससे करीब 4000 ऐसे केमिकल निकलते हैं जो हमारे शरीर के लिए हानिकारक हैं हमें तंबाकू का सेवन एवं नशे का सेवन कभी भी नहीं करना चाहिए समस्त बच्चो को विडियो क्लिप  के माध्यम तम्बाकू व नशामुक्ति हेतु आवश्यक दिशा  निर्देश दिखाये गये है ।
कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था प्रभारी आईएस सालवी ने की साथ  ही संस्था से अजय सिंह गडरिया ,मनोज लड्ढा, जगदीश परवाल ,श्रीमती सुंदर कनेश आदि  उपस्थित थे।
कार्यक्रम में जिले से कार्यक्रम प्रभारी डॉक्टर प्रमेय रेवडिया, भूपेंद्र मंडलोई ज़किशोर माली एवं विमला अजनार का सराहनीय योगदान रहा


Post A Comment:

0 comments: