बड़वानी~बच्चों में बिजनेस मैनेजमेंट विकसित करता है,बाल-मेला’~~

बड़वानी  / बच्चों में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है,बस आवश्यकता है, उन्हें पर्याप्त अवसर देने की। बाल-मेला बच्चों के द्वारा बच्चों के लिए लगाया गया एक ऐसा मंच है, जिससे बच्चों के जीवन में व्यावहारिक गुणों के साथ व्यावसायिक गुणों का भी विकास  होता है।
सिर्वी इंटरनेशनल स्कूल बड़वानी में प्रथम भव्य  बाल-केबिनेट द्वारा बाल मेले का आयोजन किया गया । इस बाल मेले का शुभारंभ वरिष्ठ मातृशक्ति माताजी शांताबाई चैधरी, माताजी गेंदी बाई मुलेवा, माताजी  लीलाबाई परमार, माताजी केशर बाई परिहार के शुभाशीष हाथों द्वारा  किया गया ।  बाल मेले में कक्षा एक से दस तक के बच्चों ने आकृर्षक तरीके से दुकाने लगाकर पानी पतासे स्टॉल, नींबू पानी कॉर्नर, पोहा, चाय स्टॉल, किराना स्टोर, स्वीट्स, विज्ञान का जादू, कुरकुरे सेंटर, खेल खेलो-इनाम जीतो, पापड़ स्टोर, बिंदिया लगाओ-इनाम पाओ, भजिए सेंटर, बॉम्बे भेल, पकोड़ा सेंटर, चॉकलेट बिस्किट कॉर्नर, इमरती, बून्दी रायता, गाजर का हलुवा, चीले, आलूबड़ा, मिर्ची, साबूदाना खिचड़ी, बनारसी व मद्रासी पान आदि स्टॉल लगाए गए एवं खूब मनोरंजन के साथ मुनाफा भी कमाया।
इस मेले में बच्चों के माता-पिता एवं पालकों ने आकर बच्चों का उत्साहवर्धन किया। बच्चों ने 52 दुकानें लगाई, जिसमें 175 बच्चों ने सहभागिता की। इस दौरान श्री मनोहरलाल मुकाती, श्री कालूराम लछेटा, श्री दिनेश चैधरी, डॉ.आर.एस.चोयल, श्री शंकर परिहार(नांदिया वाले), रिटार्यड आर्मी डोंगरे, श्री किशोर भायल, श्री शांतिलाल मुकाती, श्री गोविंद भायल, श्री विनोद परमार व समस्त स्कूल स्टॉफ ने बच्चों की भूरी-भूरी प्रशंसा की ।


Post A Comment:

0 comments: