बड़वानी~मतदाता जागरूकता प्रतियोगिताओं का हुआ आयोजन~~

चित्रकला और स्लोगन लेखन में कोमल रही अव्वल, वाद-विवाद में रवीना ने मारी बाजी~~

बड़वानी /शहीद भीमा नायक शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, बड़वानी के स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्षन प्रकोष्ठ द्वारा मध्यप्रदेष राज्य निर्वाचन पदाधिकारी, आयुक्त उच्च षिक्षा विभाग मध्यप्रदेष शासन और कलेक्टर तथा जिला निर्वाचन अधिकारी, जिला बड़वानी के निर्देषानुसार प्राचार्य डाॅ. आर. एन. शुक्ल के मार्गदर्षन में महाविद्यालय स्तरीय मतदाता जागरूकता प्रतियोगिताओं का आयोजन आज सम्पन्न हुआ। इसमें निबंध, चित्रकला, स्लोगन लेखन एवं वाद विवाद प्रतियोगिताओं का आयोजन हुआ। निर्णायक की भूमिका का निर्वाह शासकीय महाविद्यालय, पंधाना के डाॅ. प्रवीण मालवीया और ग्रंथालय विषेषज्ञ सुश्री प्रीति गुलवानिया ने किया। संयोजन कोमल सोनगड़े, जितेंद्र चैहान, प्रीतम राठौड़ ने किया। अध्यक्षता डाॅ. एम. एल गर्ग ने की। इस अवसर पर डाॅ. मालवीया ने विद्यार्थियों को बोलने की कला के बारे में टिप्स देते हुए कहा कि आपकी विषय वस्तु सार्थक और प्रस्तुति प्रभावी होनी चाहिए। प्रीति गुलवानिया ने कहा कि अच्छा वक्ता बनने के लिए अच्छा पाठक बनना आवष्यक है। डाॅ. गर्ग ने कहा मतदान हमारा अधिकार भी है और कर्तव्य भी।
ये रहे विजेता
कॅरियर काउंसलर और आयोजन प्रभारी डाॅ. मधुसूदन चैबे ने बताया कि चित्रकला के लिए आदर्ष मतदान केन्द्र विषय रखा गया था। इसमें कोमल सोनगड़े प्रथम तथा वंषिका मेवाड़े द्वितीय स्थान पर रहीं।  वाद विवाद का विषय था- इस सदन की राय में- ‘‘भारत में मतदान का अनिवार्य कर दिया जाना चाहिए।’’ पक्ष में रवीना मालवीया प्रथम, संतोष बड़ोले द्वितीय एवं संदीप चैहान तृतीय रहे। विपक्ष में राहुल भंडोले प्रथम, नानसिंह डावर द्वितीय एवं मगाराम जाट तृतीय रहे। निबंध के लिए ‘चुनाव में युवाओं की भागीदारी’ विषय रखा गया था। इसमें प्रथम नानसिंह डावर, द्वितीय आयुषी बोरकर एवं तृतीय पीयूष कुरील रहे। स्लोगन के लिए ‘महिला मतदान को प्रोत्साहन’ विषय तय किया गया था। इसमें कोमल सोनगड़े प्रथम, राहुल भंडोले द्वितीय एवं प्रीतम राठौड़ तृतीय स्थान पर रहे।
संचालन कोमल सोनगड़े ने किया तथा आभार ग्यानारायण शर्मा ने व्यक्त किया।


Post A Comment:

0 comments: