*मनावर ~चाइल्ड लाइन द्वारा खेतों में मजदूरी करने आदीवासी बालक बालिकाओं को पिकअप वाहन में  ठुसठुस कर बैठाकर ले जाया जा रहा था*  ~~

निलेश जैन मनावर ~~

आज चाइल्ड लाइन द्वारा खेतों में मजदूरी करने जा रहे हैं 9 से 15 वर्ष के बालक बालिकाओं को पिकअप वाहन में कुछ ठुसठुस कर बैठाकर ले जाया जा रहा था। जिसको चाइल्ड लाइन द्वारा पिकअप वाहन को पकड़कर मनावर थाने पर लाया गया। जहां पुलिस द्वारा चालनी कारवाई की गई।प्राप्त जानकारी अनुसार आज नगर के सिंघाना मार्ग स्थित सेमल्दा फाटे पर बालक बालिकाओं से भरे एक वाहान को टीम द्वारा पकड़ कर थाने पर लाए गया। टीम के दीपेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि वाहन को रोककर कार्रवाई के लिए महिला बाल विकास विभाग, श्रम विभाग, बाल कल्याण समिति आदी को सूचना दी गई तथा वाहन में बैठे बालक बालिकाओं को थाने पर लाकर उनसे जानकारी ली गई जिसमें बालक बालिका द्वारा कहा गया कि उन्हें खेतों में मजदूरी करने के लिए ले जाया जा रहा था। सभी बालक बालिकाओं को बाल कल्याण संरक्षण समिति द्वारा बच्चों के माता-पिता व पालको के सुर्पदुग में दिया गया। कार्रवाई में चाइल्ड लाइन परियोजना समन्वयक सपना शिंदे, शशि पंवार, धीरेंद्र सोलंकी, शेरसिंह डावर, महिला बाल विकास सुपरवाइजर कविता मजारे, बाल कल्याण समिति से बालक संरक्षण अधिकारी बलराम ठाकुर सदस्य शिवराम मुवेल तथा श्रम विभाग से नरेंद्र तोमर  अतुल वैध आदि माजुद थे। ज्ञात है कि मनावर क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रों में पिकअप वाहनों के माध्यम से प्रतिदिन क्षेत्र के बाल श्रमिकों को ठेकेदारों के द्वारा काम हेतु लेजाया जाता है। नगर की कई होटल, खेत, खदानों तथा निर्माणाधीन भवनों पर मजदूरी के रूप में उनसे काम कराया जाता है। स्थानीय प्रशासन का ध्यान नहीं होने से किसी भी दिन बड़ा हादसा हो सकता है मामले को लेकर धार कलेक्टर का भी ध्यान आकर्षित कराया गया है।bn ज्ञात है कि पूर्व में भी मजदूरों से भरी एक पिकअप वाहन पलडी खाने से कई मजदूर घायल होकर मौत के घाट उतर चुके थे ।


Post A Comment:

0 comments: