बड़वानी~थोड़ी सी सजगता रखकर उपभोक्ता कर सकते है अपने अधिकारो की रक्षा-श्री यादव~~

बड़वानी  / उपभोक्ता खरीदी करते समय यदि थोड़ी सी सजगता रखे तो वह अपने हितो की रक्षा व खरीदी जाने वाली वस्तुऐ-सेवाओ का पूरा मूल्य प्राप्त कर सकता है । वहीं होने वाली ठगी से भी अपने आपको बचाते हुये दोषियो को दण्डित कर सकता है ।
राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस पर मंगलवार को ग्राम बोरलाय के शासकीय कन्या हाईस्कूल में आयोजित कार्यक्रम में उक्त बाते कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जनपद पंचायत बड़वानी उपाध्यक्ष श्री शांतिलाल यादव द्वारा कही गई । इस दौरान उन्होने उपभोक्ताओं को बताया कि किसी भी प्रकार की वस्तु या सेवा प्राप्त करते समय हमे जागरूक रहना चाहिए। अगर हम जागरूक रहे तो हमे कोई छल नही सकता है।
कार्यक्रम के दौरान नाप-तौल विभाग के निरीक्षक ने बताया कि डिब्बा बंद या पैकिंग की गई वस्तुओ पर यदि एक बार मूल्य अंकित कर दिया जाता है तो उसे स्टीकर लगाकर या मिटाकर दूसरा मूल्य अंकित नहीं किया जा सकता, अगर ऐसा कोई करता है तो उस पर जुर्माना किया जा सकता है । साथ ही अगर हम कोई सामान खरीदते है तो पहले हम दुकानदार के तौल कांटे को अवश्य देखे तौल कांटा बराबर होने पर ही वस्तु खरीदे अन्यथा कोई गड़बड़ होने पर पहले दुकानदार से तौल कांटा सही करवाये उसके बाद ही कोई वस्तु खरीदे।
इसी प्रकार खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि डिब्बा बंद या पैकिंग की गई वस्तुओ पर बेच नम्बर, पैकिंग तिथि, उपयोग की अवधि, बनाने वाली कंपनी का पूरा पता, पैकेट में पदार्थ की मात्रा एवं कस्टमर केयर नंबर होना अनिवार्य है, नियम का उल्लंघन होने पर दोषी प्रतिष्ठान, निर्माता पर जुर्माना लगाया जा सकता है। वहीं खाद्य पदार्थ का सेम्पल फैल होने पर दोषियो पर कार्यवाही कर जुर्माने का प्रावधान भी है ।
कार्यक्रम के दौरान कृषि विभाग के श्री महेश खन्ना ने कार्यक्रम में उपस्थित किसान भाईयो को बीज अधिनियम, पौध संरक्षण अधिनियम तथा उर्वरक नियंत्रण अधिनियम के प्रावधानों के बारे में विस्तार से बताया।
कार्यक्रम के दौरान उपभोक्ता फोरम के सदस्य श्री महेश शर्मा ने भी उपभोक्ताओ को उनके अधिकार, प्राप्त की गई सेवाओ में कमी पाये जाने पर किस प्रकार उपभोक्ता फोरम में वाद दायर कर जुर्माना राशि प्राप्त की जा सकती है। इसके बारे में विस्तार से बताया । साथ ही हाल में लोकसभा में पारित हुए उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के नवीन नोटिफिकेशन के प्रावधानों को बारे में भी विस्तार से जानकारी दी। उन्होने बताया कि 1 करोड़ रुपये तक की क्षति के प्रकरणों की सुनवाई अब जिला उपभोक्ता न्यायालय में की जा सकती है।
इसी अवसर पर नाप-तौल विभाग, खाद्य सुरक्षा विभाग, गैस एजेंसी, आईल कम्पनी ने स्टाल लगाकर भी उपभोक्ताओ को जागरूक किया । प्रदर्शनी स्थल पर उपभोक्ताओ को यंत्रो, डिब्बा बंद पैकिटो के माध्यम से बताया गया कि किस प्रकार उनके धोखा-धड़ी होती है और उसे कैसे पकड़ा जा सकता है । कार्यक्रम में ग्राम की बालिकाओं द्वारा ग्रामीणों को डबल फोर्टीफाईड नमक के फायदे बताते हुए ‘‘लाली का संदेश ग्राम सभा के नाम‘‘ नाटक का मंचन भी किया। कार्यक्रम में संस्था प्राचार्य श्री आरके शर्मा, ग्राम के वरिष्ठजन श्री मुकाती सहित ग्रामीणजन उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन सहायक खाद्य अधिकारी श्री संतोष दुबे द्वारा किया गया।


Post A Comment:

0 comments: