*झाबुआ~प्रेस पर हमला* आंदोलन के तहत पत्रकारों ने महामहिम के नाम कलेक्टर को सौपा ज्ञापन-प्रजातंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला~~





रास ना आया सच्चाई दिखाना,कहीं ना कहीं वर्तमान सरकार को~~



संजय जैन झाबुआ~~

झाबुआवर्तमान सरकार द्वारा पत्रकारों की सुरक्षा या फिर पत्रकार परिवार बीमा जैसी योजना लागू करना कहीं ना कहीं ढोंग नजर आ रहा है। मध्यप्रदेश के वरिष्ठ पत्रकार जीतू  सोनी द्वारा उनके अखबार में लगातार हनीट्रेप मामले की परत दर परत सच्चाई दिखाने पर कहीं ना कहीं वर्तमान सरकार को रास ना आया। कुछ विघ्न संतोषी लोगों की शिकायत पर सरकार ने शनिवार देर रात जीतू सोनी के इंदौर स्थित प्रेस एवं कार्यालय पर अचानक रेड कर दी व सूत्र बताते हैं कि कई पत्रकारों को धमकाने की भी कोशिश की गई। 




स्वतंत्रता छीन कर पत्रकारों की आवाज दबाने की कोशिश ...





पूरे घटनाक्रम को देखते हुए लगता है कि कहीं ना कहीं पत्रकारिता का हनन वर्तमान सरकार कर रही है एवं पत्रकारों की स्वतंत्रता छीन कर पत्रकारों की आवाज दबाने की कोशिश की जा रही है। जिसको लेकर नगर के इलेक्ट्रानिक एवं प्रिंट मीडिया के पत्रकारों ने सोमवार को प्रदेश के महामहिम राज्यपाल के नाम से कलेक्टर प्रबल सिपाहा को ज्ञापन सौप कर सरकार द्वारा की गई कार्यवाही का विरोध किया। 




मीडिया के साथी उपस्थित थे...





*प्रेस पर हमला* आंदोलन के तहत ज्ञापन का वाचन ठा.नरेश प्रताप सिंह ने किया। इस अवसर पर पत्रकार संजय जैन- लोकस्वामी ब्यूरो,नरेश प्रताप सिंह-सहारा समय ब्यूरो,निकलेश डामोर वॉइस ऑफ  झाबुआ संपादक,बलराज राठौर वॉइस ऑफ़  झाबुआ,अहद खान-भास्कर ब्यूरो,सचिन बैरीगी-पत्रिका सिटी रिपोर्टर,आलोक द्विवेदी-इंडिया न्यूज ब्यूरो,संदीप जैन-राज एक्सप्रेस ब्यूरो,मुकेश परमार-सुदर्शन न्यूज़ ब्यूरो,राकेश पोद्दार ध्रुव वाणी ब्यूरो ,दिनेश वर्मा-झाबुआ लाइवएएनआय,बलराज राठौर वॉइस ऑफ़  झाबुआ सिटी रिपोर्टर,पियुष गादिया-अग्निबाण ब्यूरो,कमलेश सोनी-राज एक्सप्रेस सिटी रिपोर्टर,दौलत गोलानी-सच्चा दोस्त वेब,आफताब कुरेशी-हैल्लो हिंदुस्तान ब्यूरो,संदीप मेहता-डीएनएस न्यूज ,वीरेंद्र सिंह राठौर-न्यूज़ 18,अनिल श्रीवास्तव-राज एक्सप्रेस पारा संवाददाता,शैलेन्द्र राठौर नवभारत पारा संवाददाता व राजेन्द्र सोनी-अपनी दुनिया ब्यूरो सहित बडी संख्या में मीडिया के साथी उपस्थित थे। 





*प्रेस पर हमला* आंदोलन के तहत ज्ञापन ......





*प्रेस पर हमला* आंदोलन के तहत ज्ञापन में कहा गया कि प्रदेश सरकारसरकार के नुमाईन्दों द्वारा देश के चौथे स्तंभ प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया पर सतत हमला किया जा रहा है। इन्दौर एक प्रतिष्ठित दैनिक के हाई प्रेाफाईल मामले हनीट्रेप के बारे मे समाचार प्रकाशित होने के बाद अद्र्धरात्री में समाचार पत्र के कार्यालय एवं अन्य प्रतिष्ठानों पर अचानक कार्रवाही की गई जो कि मिडीया के उपर कुठाराघात है। सरकार द्वारा हाई्र प्रोफाईल मामले को लेकर मीडिया का गला घोटकर आवाज को दबाया जा रहा है। इस पत्र के संपादक एवं पत्रकार पर राजनैतिक द्वेषता के चलते जो काय्र्रवाही की गई है वह अनुचित है एवं संविधान के अनुरूप नही है। झाबुआ जिले के प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया की ओर से समाचार पत्र के संपादक,पत्रकार पर की गई कार्यवाही को वापस लेने  की मांग राज्यपाल से की गई है ।








Post A Comment:

0 comments: