देवास~खातेगांव के आदिवासी ग्रामों में वन विभाग ने लगाया अनुभूति कैंप ~~

ढोल धमाकों के साथ छात्र छात्राओं ने किया जंगल का भ्रमण~~

अनिल उपाध्याय
खातेगांव/देवास~~


वन परिक्षेत्र खातेगांव के अंतर्गत  दूसरा अनुभूति कैंप वनग्राम खातामऊ में आयोजित किया गया !इस अनुभूति कैंप में शासकीय माध्यमिक विद्यालय मचवास ,लिंगापानी, पलासी एवं वनग्राम खातामऊ के आदिवासी अंचल के छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों वाहन द्वारा लाया गया एवं एवं ढोल धमाकों के साथ छात्र छात्राओं का स्वागत किया गया ! छात्र छात्राओं के द्वारा बहुत ही आकर्षक सुंदर रंगोली अनुभूति कैंप के प्रवेश के गेट पर बनाई गई !तत्पश्चात उपमंडल अधिकारी कन्नौद एसके शुक्ला ने एवं मास्टर ट्रेनर ओ पी जोशी द्वारा छात्र-छात्राओं को इको पर्यटन बोर्ड लिखा हुआ कैप टीशर्ट बौसर वितरण किया गया सामग्री प्राप्त कर बच्चे बहुत प्रफुल्लित हुए  एवं छात्र छात्राओं शिक्षक जनप्रतिनिधियों को सुबह का नाश्ता चाय स्वल्पाहार करवाया गया! एसडीओ कन्नौद  एसके शुक्ला द्वारा वन एवं वन्य प्राणियों के संबंध में सुरक्षा की दृष्टि से बच्चों को कैंप में पधारे जन मान्य नागरिक को इको अनुभूति कैंप की विशेषताओं के संबंध में अवगत कराया गया उसके बाद ढोल धमाकों के साथ बच्चों को वन भ्रमण के लिए प्रस्थान किया गया छात्र-छात्राओं द्वारा बहुत ही उत्साह के साथ  कतार वध बनाकर रैली स्वरूप वन भ्रमण के लिए प्रस्थान किया गया वन के अंदर गोल घेरा बनाकर बच्चों को वन पर्यावरण  पेड़ पौधों के बारे में बताया गया उनके महत्व को बड़ी ही सूक्ष्मता के साथ विस्तार से  उपमंडल अधिकारी  कन्नौद द्वारा बताया गया जंगल कौन सा अच्छा माना जाता है जिसमें सब प्रकार के लोग हो दादा दादी मम्मी पापा छोटे भाई बहन बच्चे भी होना चाहिए जब छोटा बच्चा घर में आता है तो बहुत खुशी मनाते हैं नया पौधा जब उगता है तो हम भी बहुत खुशी मनाते हैं क्योंकि वहां छोटा है वह  जंगल सबसे अच्छा माना जाता है जिसमें सब प्रकार के लोग हो सेल्फ परिवार अच्छा परिवार माना जाता है जिस जंगल में छोटा बढ़ा लंबे ऊंचे पेड़ हो अच्छा माना जाता है और उस मैं अलग अलग प्रजाति वृक्ष भी होना चाहिए एक परिवार श्रृंखला के रूप में समझाया गया मास्टर ट्रेनर ओ पी जोशी द्वारा पेड़ पौधों वन्य प्राणियों वन्यजीवों पर्यावरण चट्टान मृदा क्षरण वन्य प्राणियों की पहचान उनके महत्व सर्प एवं गिद्ध के महत्व के बारे में सूक्ष्मता से समझाया गया एवं वन एवं वन्य प्राणियों  इकोसिस्टम फूड चैन एवं पर्यावरण के प्रत्येक घटक के बारे में  समझाया गया कार्यक्रम की अध्यक्षता मनीष पटेल सरपंच जामनेर मनोनीत वन्य प्राणी अभी रक्षक जगदीश विश्नोई शिव पटेल पूर्व ब्लाक अध्यक्ष हरण गांव जनप्रतिनिधि द्वारा की गई इस अवसर पर वन्य वन्य प्राणियों से संबंधित क्विज प्रतियोगिता भी रखी गई वन परिक्षेत्र अधिकारी खातेगांव के.एस. सोलंकी ने मध्य प्रदेश इको पर्यटन विकास बोर्ड ने सभी विद्यार्थियों को मध्य प्रदेश के समस्त इको विकास पर्यटन केंद्र की जानकारी दी एवं आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को प्रथम द्वितीय तृतीय पुरस्कार वितरित किया गया उप उप वन मंडल अधिकारी कन्नौद एसके शुक्ला ने इस अनुभूति कैंप में भाग लेने वाले सभी बच्चों को वनों एवं वन्य प्राणियों की सुरक्षा करने का संकल्प ग्रहण करवाई गई , वन परिक्षेत्र खातेगांव के समस्त स्टाफ शुगर सिंह राजपूत डिप्टी रेंजर ,महेश चंद वर्मा ,दरियाव सिंह परते, सूरत सिंह राठौर वनपाल ,नेहा शर्मा गौरान तिवारी शिवप्रताप शक्तावत वनरक्षक अरुण करपे ऑपरेटर आदि का अहम योगदान रहा, कार्यक्रम का संचालन हरिओम पाराशर वनपाल ने किया! आभार केएस सोलंकी वन परिक्षेत्र अधिकारी खातेगांव ने माना!


Post A Comment:

0 comments: