*मनावर ~तीन दिवसीय गुरुसप्तमी महोत्सव को लेकर मुनिश्री वैराग्ययश विजय मःसाः का नगर में भव्य मंगल प्रवेश*~~     

निलेश जैन मनावर ~~

आगामी तीन दिवसीय गुरुसप्तमी महोत्सव को लेकर धार रोड स्थित राजेन्द्रसुरी जैन दादावाड़ी से चल समारोह के साथ मुनि श्री वैराग्ययश विजय मःसाः का नगर में भव्य मंगल प्रवेश ब्रेड बाजों के साथ हुआ। जवाहर मार्ग स्थित नवीन महावीर भवन पर धर्मसभा में मुनिश्री ने कहा कि मनावर की नगर की पावन धन्यधरातल पर प्रथम बार आना का शोभाग्य बना है मनावर मन को साफ करने वाला नगर है। कहा कि गुरु सप्तमी महोत्सव एवं नगर भोज के लाभार्थी ऋषभ ओरा को साधुवाद दिया। साथ ही कहा कि इस नन्हे बालक पर पिता का साया नही है दादा गुरुदेव का आर्शीवाद परिवार पर सदा बना रहे। जीवन को सार्थक बनाने के लिये जीवन की दिशा पर जीनवाणी का कार्यक्रम 25 दिंसबर को प्रात: 9 बजे महावीर भवन पर रखा गया है। नगर भोज के लाभार्थी ओरा परिवार कि बालिका मोहनी ओरा द्वारा मंदिर के बाहर सीर पर मंगल कलश लेकर मुनिश्री की आगवानी की कलश पर वासक्षेप डालकर लोहार पट्टी स्थित श्री शंखेश्वर पार्शनाथ जैन मंदिर में प्रवेश किया। मंदिर में भगवान श्रीपार्शनाथ एवं दादा गुरुदेव श्री राजेन्द्रसुरीश्वर जी की प्रतिमा के दर्शन वंदन किये। मुनि श्री वैराग्ययश विजय के नगर प्रवेश समाजजनों द्वारा अपने अपने घरों के आगे गवलीपूजा कि गई। चल समारोह में समाज की महिलाएं पूरुष बच्चे शामिल हुऐ। धर्मसभा का संचालन राहुल खटोड़ ने किया। राजेन्दसुरी जैन दादावाड़ी ट्रस्ट के पारसमल नवलखा, समीरमल जैन, सुमित खटोड़ ने बताया कि तीन दिवसीय इस भव्य आयोजन को सफल बनाने के लिये 25 दिंसबर बुधवार को रात्रि 8 बजे श्वेतांबर जैन समाज की बैठक मुनिश्री वैराग्ययश विजय मःसा: के सानिध्य में रखी गई है।


Post A Comment:

0 comments: