*अलीराजपुर~खनीज इंस्पेक्टर को अगवाह करने वाले 3 आरोपी चडे पुलिस के हथ्थे*~~

*3 मे से एक आरोपी नाबालिक सभी आरोपी अलीराजपुर जिले के चान्दपुर के निवासी*~~

*अपहरण कर्ताओ ने खनिज विभाग द्वारा भैदभाव करने को लेकर अपहरण जैसे अपराध को अंजाम दिया*~~

✍🏻जुबेर निज़ामी की रिपोर्ट ✍🏻
अलीराजपुर 📲9993116518~~

अलीराजपुर खनिज इंस्पेक्टर के अगवा मामले मे पुलिस ने दबिस देकर दिपा की चौकी से  4 आरोपीयो को पकडा जो कि अलीराजपुर जिले के चान्दपुर निवासी है जब की एक आरोपी इन्दौर निवासी है और एक नाबालिग है।
पकडे गये आरोपी (1) दिपक पिता भारतसिग चौहान उम्र 22 वर्ष निवासी शनि नगर मुशाखेडी इन्दौर, (2) नरेश उर्फ राजु पिता प्रवीण टेगौर उम्र 24 निवासी साजनपुर खाडा फलिया चान्दपुर, (3) दिनेश उर्फ दिनशिया पिता भैरु वास्केल उम्र 19 वर्ष निवासी आगलगोटा वास्केल फलिया चान्दपुर , (4)  नाबालीग उम्र 17 वर्ष निवासी चान्दपुर, जिनको पुलिस न्यायालय मे पेश कर डिमान्ड की मांग कर पूछताछ करेगी।

प्रथम जाँच पूछताछ मे आरोपियों द्वारा ये बताया गया की खनीज इंस्पेक्टर को अगवा करना या हानि पहुचाना मकसद नही था बस खनिज इंस्पेक्टर को ये बताना था की इन गाड़ियों पर कार्यवाही क्यो नही करते हो खनिज इंस्पेक्टर द्वारा भेद भाव किया जा रहा था पैसे लेकर ऑवरलोडिग ट्रक और डम्फर को छोड दिया जाता है और रॉयल्टी होने के बाद भी हमसे पैसो की डिमांड की जाती है और न देने पर हमे परेशान करने के लिये हम पर कार्यवाही करते थे चान्दपुर तरफ से प्रति दिन सैकडो ट्रक गुजरात से ऑवरलोडिग एवं बगेर रॉयल्टी अंडर बिलिग के पास करते है जो नियम के विरुद्ध है और इसमे खनिज इंस्पेक्टर किराडे पुरी रात अवैध वसूली करते है और पुरी रात रोड पर घूमते रहते है।

हम विचार न्यूज प्रतिनिधि  खनिज इंस्पेक्टर के  अपहरण की घटना का विरोध करते है मगर कहि ना कही ये सिस्टम की नाकामी की वजह से इन लोगो ने अपहरण जेसी घटना को अंजाम दिया है। यदि सिस्टम और जिला  प्रशासन इस घटना को गंभीरता से लेते हुऐ इसकी सही तरीके से जाँच करवाए तो कही न कही ये खनीज विभाग की नाकामी और भ्रष्टाचार को उजागर कर सकती है। क्योकी जहा भी कोई क्राईम  होता है तो पीड़ित कही न कही सिस्टम की नाकामी का सिकार होकर इस तरह का गंभीर अपराध कर लेता है।
आपको बता दे 4 आरोपीयो मे एक नाबालिग है तो 3 आरोपियों की उम्र 22 से 24 वर्ष की है इतनी छोटी उम्र मे  इतना बडा अपराध करना कही न कही खनिज विभाग को भी संका के घेरे मे खडा करता है अपहरण कर्ताओ का यही कहना है की खनीज इंस्पेक्टर को बताना था की आप ऑवरलोडिग पर कार्यवाही क्यो नही करते।

आपको बता दे जिले मे खनिज विभाग द्वारा इक्का दुक्का कार्यवाही होती है वो भी अपना कोटा पुरा करने के लिये हम पहले भी लिख चुके है की खनिज विभाग द्वारा जिले मे भारी भ्रष्टाचार किया जा रहा है जिसका सुबूत थाना कोतवाली मे लगे सीसी टीवी केमरे से मिल सकता है कितने ट्रक डम्फर ऑवरलोडिग बगैर रॉयल्टी के बे खोप गुजर रहे है मगर खनिज विभाग अवैध वसूली करने मे मस्त है। जब की रॉयल्टी अंडरलोड   पारसीन्ग  के हिसाब से आती मे मगर ऑवरलोडिग चल रही है और अधिकारी आख मुन्दकर बैठे है। जिले मे अधिक से अधिक एक माह मे कितने वाहनो पर कार्यवाही हुई वो भी मिडिया को नही बताते है ।


Post A Comment:

0 comments: