*झाबुआ~विचार न्यूज़ की खबर का असर*~~

*कलेक्टर ने दिए जाँच के आदेश*~~

*आंगनवाड़ी की दिव्यांग कार्यकर्त्ता से 500 रुपये वसूली मामले में सीएससी के खिलाफ दिए जांच के आदेश*~~


झाबुआ से दशरथ सिंह कट्ठा ब्युरो~~

झाबुआ - झाबुआ कलेक्टर के आदेश का हवाला देकर,अपने आप को नोडल अधिकारी बताकर आगनवाडी चैक करने पहुँचा सीएससी *कयूम खान* द्वारा  कलेक्टर के नाम से धमका कर दिव्यांग महिला कार्यकर्त्ता से 500 रुपये वसूली मामले की खबर विचार न्यूज ने बड़ी प्रमुख्ता से दिखाई थी जिस खबर को गम्भीरता से सज्ञान में लेते हुवे जिले के लोकप्रिय कलेक्टर प्रबल सिपाहा द्वारा मामले में जांच के आदेश दिए ,बीइओ और बीआरसी को, आदेश के बाद जांच अधिकारी टीम पहुँची दिव्यांग महिला आगनवाडी कार्यकर्त्ता के कथन (बयान) लेने मोके पर ! जांच कर कथन लेकर टीम ने कथन (रिपोर्ट) जिला कलेक्टर को भेजी, अब सबसे बड़ा सवाल यह हैं कि जिले के लोकप्रिय कलेक्टर प्रबल सिपाहा इस मामले को किस तरह से संज्ञान में लेकर क्या कार्यवाही करते हैं सीएससी पर, और क्या मिलेगा इस दिव्यांग महिला आगनवाडी कार्यकर्त्ता को न्याय..? या फिर उसी पद पर बरकरार रहेगा सीएससी और करता रहेगा अपनी मनमानी और अवैध वसूली इस तरह से.....??


*यह है पूरा मामला*

जिला कलेक्टर झाबुआ के आदेशानुसार जिले में संचालित प्राथमिक,माध्यमिक,आगनवाडी एवं छात्रावास -आश्रमो में एमडीएम योजना के अनुश्रवण हेतु निरीक्षण कर्त्ताओं को आदेशित किया गया ,तथा मॉनिटरिंग हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त किये गए थे जिन्हें पत्र में दिए गए स्कूलों छात्रावास , आगनवाडी केंद्रों में एमडीएम की मॉनिटरिंग कर निरीक्षण प्रतिवेदन प्रस्तुत करना था , मगर कलेक्टर के आदेश की अवहेलना करते हुवे , बिना किसी आदेश के  सीएससी कयूम खान  द्वारा मेघनगर परियोजना के अंर्तगत आने वाले आगनवाडी केंद्र बेड़ावली में निरीक्षण करने पहुँचा तथा कलेक्टर के आदेश का हवाला देकर दिव्यांग कार्यकर्ता को धमका कर 500 रुपए की वसूली की  बिना किसी अनुमति के बिना किसी लिखित आदेश के  सीएससी द्वारा अपना उल्लू सीधा करने के लिए ,काली कमाई करने के लिए खुद निरीक्षण करने पहुचे ओर कलेक्टर के नाम की धोस डपट देकर दिव्यांग कार्यकर्त्ता से 500 रुपये वसूल लिए,ओर अपना जेब गर्म कर वहां से चलते बने , अब सबसे बड़ा सवाल यह है आखिर सीएससी द्वारा उस दिन किन किन जगहों का निरीक्षण किया तथा ओर  कहा कहा से राशि लेकर आया यह भी जांच का विषय है


Post A Comment:

0 comments: