*झाबुआ~कलेक्टर के जाँच के आदेश के बाद भी नही मिल पाया दिव्यांग आगनवाडी कार्यकर्त्ता  को न्याय*~~

*7 दिन से भी अधिक समय बीत जाने के बाद भी दिव्यांग आगनवाड़ी  के कथन  नही पहुँचे कलेक्टर साहब के पास*~~


*CAC द्वारा दिव्यांग आँगनवाड़ी कार्यक्रर्ता से 500 रुपए लिए जाने का था पूरा मामला*~~

*झाबुआ से दशरथ सिंह कट्ठा ब्युरो....9685952025*~~

झाबुआ - दिव्यांग आँगनवाड़ी कार्यक्रर्ता से सीएसी द्वारा 500 रुपए लिए जाने का मामला प्रकाश में आने के बाद,जिला कलेक्टर द्वारा पूरे मामले की जांच के आदेश दिए थे,डीपीसी प्रजापति जी को डीपीसी झाबुआ के मार्गरदर्शन में उक्त मामले की जांच मेघनगर प्रभारी बीईओ देवहरे जी,ओर बीआरसी मंगल सिंह नायक  मेघनगर को सोपी गई थी ,मगर इस मामले को लेकर बी ओ ,ओर बीआरसी भी मामले को रफा दफा करने में लगे रहे , मिली जानकारी के अनुसार दिव्यांग आगनवाडी कार्यकर्त्ता के कथन बीओ ,ओर बीआरसी द्वारा , आगनवाडी केंद्र पर न जाकर ,स्थानीय कन्या शाला स्कूल में उस दिव्यांग आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को बुला कर कथन लिये गये! ताकि मामला और उजागर न हो,जबकि वास्तविकता का पता आगनवाडी केंद्र पर जाकर चलता,की सीएसी ने उस आंगनवाड़ी कार्यकर्ता से कैसे और क्यों 500 रुपये लिए मगर ऐसा हुआ नही...????


*मामले को रफा दफा करवाने में कई चेहरे है लगे हुवे*

सीएससी कयूम खान द्वारा 500 रुपये लेने का मामला उजागर होने के बाद ,कई सफेदपोश ,ओर समाजसेवी इस मामले को रफादफा करवाने में लगे हुवे ,ताकि सम्बन्धित सीएससी के दमन पर जो दाग लगा है वह मिट जाए और मामला खत्म हो जाये , ओर सीएससी अपने पद पर काबिज रहे,

*दिव्यांग आगनवाडी कार्यकर्त्ता के पति का कहना*

इधर इस मामले में दिव्यांग आगनवाडी कार्यक्रर्ता के पति का कहना है कि सम्बन्धित सी एस सी पर अगर कार्यवाही नही होती है तो वह जन सुनवाई में न्याय की गुहार लगाएंगे ,

अब देखना है कि जिले के लोकप्रिय कलेक्टर प्रबल सिपाहा ,इस मामले में क्या कार्यवाही करते है या दिव्यांग पति पत्नी को मजबूर होकर , जनसुनवाई में जाकर कलेक्टर साहब से न्याय की गुहार लगाना पड़ेगी ,यह तो वक्त बताएगा

*जांच पहुची डीपीसी के पास*

इस मामले में बीओ ,ओर बीआरसी से जब चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि दिव्यांग आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के कथन लेकर हमने रिपोर्ट डीपीसी झाबुआ को भेज दी है  , अब देखना है कि उक्त कथन को सज्ञान में लेकर जिला कलेक्टर प्रबल सिपाहा सम्बंधित सी एस सी पर क्या कार्यवाही करते है
डीपीसी का कहना है कि में भोपाल था  वहाँ  से आ गया हूं और कलेक्टर साहब को कथन रिपोर्ट पेश करना है ,जो भी निर्देश कलेक्टर साहब देगे , उसको ध्यान में रखकर कार्यवाही की जाएगी
अब देखना है कि इस मामले की फाइल कब डीपीसी साहब की टेबल से कलेक्टर साहब की टेबल तक पहुचेगी , ओर दिव्यांग आगनवाडी कार्यकर्त्ता को न्याय मिल पायेगा यह तो आने वाला समय बताएगा


Post A Comment:

0 comments: