*अलीराजपुर~सत्यम मेडिकल जोबट द्वारा गर्भपात की खुलेआम गोलियों की कालाबाजारी करते हुए रंगे हाथ पकड़ा गया।* ~~

*ये एक मात्र मेडिकल स्टोर नही है जिले के कही मेडिकल स्टोर पर यही हो रहा है*~

*जिले मे बंगालियों के के क्लिनिक पर  भी अवैध मेडिसन का ज़खीरा भरा रहता है जो थोक व्यापारी ही सप्लाई कर रहे है*~~

✍🏻जुबेर निज़ामी की रिपोर्ट ✍🏻
अलीराजपुर 📲9993116518~~

अलीराजपुर जिले के जोबट तहसील में सत्यम मेडिकल जोबट के नाम से एक मेडिकल स्टोर है जिसको अनिल पोरवाल खट्टाली नामक व्यक्ति संचालित करता है मेडिकल स्टोर पर गर्भपात की गोलियां खुलेआम डॉक्टर के बिना पर्ची से बेची जा रही  हैं इसकी जानकारी मानव अधिकार प्रोटेक्शन को मिलने पर जिला अध्यक्ष जितेंद्र वर्मा द्वारा टीम गठित कर मेडिकल स्टोर पर गर्भपात की गोलियां खरीदने के लिए टीम के सदस्य को लेने के लिए भेजा तो पाया गया कि मेडिकल स्टोर पर संचालक अनिल पोरवाल ने मेडिकल स्टोर से गोलिया निकालकर ₹500 में दी और कहा कि इससे भूखे पेट खिला देना श्री जितेंद्र वर्मा वहां पास आ गई उसके बाद अंतरराष्ट्रीय मानव अधिकार संघ के प्रदेश सचिव सोहन डोडवे ने मेडिकल स्टोर का निरीक्षण किया तो वहां पर गर्भपात की गोलियों का जखीरा पाया गया इस संबंध मे श्री अनिल जी हरवाल ने स्टोर संचालक से बातचीत करना चाहिए वह बातचीत करने से साफ मुकर गया और गोलियों का जखीरा और पास पड़े बॉक्स को छीनने की कोशिश करने लगा इससे पता चलता है कि भ्रूण हत्या में संचालित मेडिकल स्टोर का कितना बड़ा हाथ है सरासर मानवता से खिलवाड़ हो रहा है शासन कितनी भी योजना बना ले परंतु ऐसे लालची सनचालक को लाइसेंस देने से यह गोरखधंधा बंद नहीं होगा स्टोर संचालक ने टीम से सीधे कहां आपको जो करना है कर लीजिए आपकी कलम चलेगी तो मेरा पैसा चलेगा ।ऐसा क्या कर  मेडिकल स्टोर की शटर डाउन करके  चला गया ।यह शासन को चेतावनी है ।संचालक द्वारा ऐसा बोलकर स्टोर को बंद कर दिया।

इतना ही नही जिले मे कही मेडिकल स्टोर बगैर लाईसेन्स के परिवार के किसी दुसरे के नाम से संचालित कर रहे है।  इतना ही नही बंगालि डाँक्टरो के क्लिनिक पर भी मेडिसिन का ज़खीरा भरा रहता है मगर जानकर भी इनपर कार्यवाहीनही होती है जो समझ के परे है। जिला स्वास्थ्य विभाग सहित ड्रग इंस्पेक्टर की ला परवाही या ये भी कहना गलत नही होगा की संरक्षण दिया जा रहा है।

👉 यह मेडिसन स्टोर पर बिना डॉक्टर की पर्ची के वह एमबी बीएस डॉक्टर की पर्ची के बिना नहीं दी जा सकती है ।अगर कोई बिना पर्ची के यह मेडिसन देता है तो वह दोषी होता है  यह गोली लेने से महिलाओं को अधिक ब्लडीगँ होती है जिससे महिला की जान भी जा सकती हैं। इस टेबलेट को डाँक्टर की देखरेख मे ली जा सकती है।

🔴बी एम ओ डाँक्टर विजय बघेल🔴

इसपर  तुरंत कार्रवाई कर दोसी पाए जाने पर  मेडिकल स्टोर पर उचित कार्यवाही की जाऐगी। इस प्रकार बगैर डाँक्टर की काऊसलीग के बगैर पर्ची के टेबलेट देना गलत है कार्रवाई होगी।
🔴अजय मीना ड्रग इंस्पेक्टर 🔴


Post A Comment:

0 comments: