राजोद~ जल, जंगल, जमीन, पांचवी अनुसूची और पैसा कानून की लड़ाई लड़ना चाहते है तो युवाओं को लोकतांत्रिक व्यवस्था खासकर विधानसभा व लोकसभा में पहुंचना पड़ेगा~डॉ. हीरालाल अलावा~~

पवन वीर राजोद 9993688124~~

राजोद~ जल, जंगल, जमीन, पांचवी अनुसूची और पैसा कानून की लड़ाई लड़ना चाहते है तो युवाओं को लोकतांत्रिक व्यवस्था खासकर विधानसभा व लोकसभा में पहुंचना पड़ेगा। उक्त बातें जयस के राष्ट्रीय संरक्षक व मनावर विधायक डॉ. हीरालाल अलावा ने राजोद मंडी प्रांगण में जयस द्वारा आयोजित जयस महापंचायत के कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में कही, डॉ अलावा ने कहा कि आज युवा दिवस है ओर इस युवा दिवस पर आयोजित जयस महापंचायत में युवाओं से आह्वान करता हूँ कि जब तक आप अपने हक व अधिकार के लिए नहीं लड़ेंगे तब तक तुम्हे तुम्हारे अधिकार नहीं मिलेंगे, राजनीतिक रूप से समाज को ताकतवर तो बनाना ही है साथ ही हमारी, जो संस्कृति है, रीतिरिवाज है, परम्पराएं हैं उन्हें सुरक्षित करने के लिए जयस युवा आगे आये और देश मे एक संदेश दें कि हम को अगर आगे बढ़ना व लोकतांत्रिक ढांचे को मजबूत करना है तो हमे हर जाति, हर समुदाय हर धर्म को लेकर इस लोकतांत्रिक व्यवस्था को मजबूत करने के लिए आगे बढ़ना होगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता सरदारपुर जयस अखलेश डामर ने की। देवराज मल्होत्रा, राजू मेहरा, दिनेश जमरे, धुमसिंह गणावा, आगर मालवा से रामेश्वर मंडलोई, जगदीश मावी, रंजीत डावर, झाबुआ से बाबूसिंह डामर आदि विशेष अतिथि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन बाबूसिंह डामर व आभार अनिल नर्वे ने व्यक्त किया। सर्व प्रथम सभी आगंतुकों का जयस के युवाओं ने स्वागत किया। जयस के राष्ट्रीय संरक्षक का स्वागत 25 किलो की पुष्पमाला से किया गया। इसके पूर्व जयस के सभी युवा एवं अतिथिगण राजोद बस स्टैंड से मंडी प्रांगण रानीखेड़ी तक रैली के रूप में पहुंचे जहां रास्ते भर लोगों ने जयस की रैली का स्वागत किया। उपस्थित सभी वक्ताओं ने भी जयस के युवाओं को संबोधित किया। इस दौरान अनिल कटारा, अनिल डामर, अर्जुन खराड़ी, संतोष गामड़, राहुल डामर ओर ईश्वर डिंडौर के साथ बड़ी संख्या में जयस के युवा उपस्थित थे।


Post A Comment:

0 comments: