राजोद~ धार जिले में धरमपुरी के पत्रकार रविन्द्र जाट पर प्रशासन द्वारा द्वेषता पूर्वक कार्रवाई से राजोद क्षेत्र का पत्रकार जगत आहत व स्तब्ध है~~

कार्रवाई विरोध में मुख्यमंत्री महोदय, मध्यप्रदेश शासन भोपाल के नाम एक ज्ञापन सौपा~~


पवन वीर राजोद 9993688124~~

राजोद~ धार जिले में धरमपुरी के पत्रकार रविन्द्र जाट पर प्रशासन द्वारा द्वेषता पूर्वक धड़ाधड़ तीन कार्रवाई से राजोद क्षेत्र का पत्रकार जगत आहत व स्तब्ध है। रविन्द्र जाट पर हुई कार्रवाई के विरोध में राजोद क्षेत्र के पत्रकारों ने बैठक कर पत्रकार पर हुई कार्रवाई की निंदा करते हुए थाना राजोद पहुंच कर राजोद थाना प्रभारी एमपी वर्मा को मुख्यमंत्री महोदय, मध्यप्रदेश शासन भोपाल के नाम एक ज्ञापन सौपा है। राजोद क्षेत्र के पत्रकारों का कहना है कि विगत 15 वर्षों से मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार रही लेकिन शिवराज सरकार ने ग्रामीण पत्रकारों के लिए कुछ भी नहीं किया जब प्रदेश में कमलनाथ सरकार बनी तो ग्रामीण पत्रकारों को एक आस जगी थी कि कमलनाथ ग्रामीण पत्रकारों के लिए कुछ ना कुछ तो करेंगे लेकिन कमलनाथ सरकार में मीडिया संस्थानों व पत्रकारों पर हो रही कार्रवाई से ग्रामीण पत्रकारों का भरोसा कमलनाथ सरकार से उठने लगा है, वहीं पुलिस प्रशासन के लिए सभी पत्रकारों ने एक सुर में कहा कि पुलिस के अधिकारी अक्सर कहते सुने गए है कि पुलिस और पत्रकारों का चोली-दामन का साथ होता है फिर पत्रकार पर इस प्रकार की कार्रवाई, अधिकारियों की कथनी और करनी पर प्रश्न चिन्ह लगाती दिखाई दे रही है। ज्ञापन के माध्यम से सभी पत्रकारों ने प्रदेश के मुखिया कमलनाथ से निवेदन किया कि धार प्रशासन द्वारा पत्रकारों पर  की जा रही कार्रवाई झूठी व द्वेषता पूर्ण है जिसकी उच्चस्तरीय जांच कर वापस ली जाय। ज्ञापन का वाचन मनीष पवाँर ने किया। इस दौरान सागर सोलंकी, आज़ाद अग्निहोत्री, पवन वीर, अशोक नायमा, गोपाल रावड़िया, मनोज बुंदेला, नीरज मारू आदि पत्रकार उपस्थित थे।


Post A Comment:

0 comments: