खंडवा /बीड़~यातायात नियमों की उड़ाई स्कूल संचालक ने धज्जियां.~~

पशुओं को भी इस तरह भरकर नहीं ले जाया जाता जिस तरह हरि ओम पब्लिक स्कूल के ऑटो में ढुसकर भरे बच्चे.~~

जवाबदारो पर प्रश्न चिन्ह बनती यह फोटो.~~

रवि सलुजा खंडवा /बीड़~~~

अधिकतर पुनासा तहसील की संचालित स्कूले है जो नियमों को ताक पर रखकर संचालित की जा रही है ऐसा ही एक मामला आज सुबह ग्राम गुराडिया में संचालित स्कूल हरि ओम पब्लिक में देखने को मिला हरि ओम पब्लिक स्कूल में कार्यरत ऑटो से परिवहन करके बच्चों को घर से स्कूल तक वह स्कूल से घर तक पहुंचाया जाता आ रहा है जिसमें आज सुबह दिन गुरुवार को लगभग 25  से अधिक बच्चों को बिठाकर परिवहन किया जा रहा है कभी भी घटना का अंदेशा हो सकता है परंतु स्कूल संचालक की मनमानी के चलते बच्चों की जान से खिलवाड़ करते नजर आ रहा है कई बार पुलिस वह यातायात विभाग के द्वारा चेकिंग अभियान चलाया जाता है जिसमें चालन बनाकर गाड़ियों को छोड़ इनायत दी जाती है प्रशासनिक जवाबदारों को ग्रामीण क्षेत्र में भी घूम कर नियमों की समझाईश सहित चालन काटने चाहिए मार्ग पर चल रहे हैं कई चार पहिया वाहनों के बीमा  तक उपलब्ध नहीं हो पाते है ऐसे अनफिट ऑटो वाहन को स्कूल प्रबंधन में लाने और ले जाने के लिए लगाया गया वह पूर्णता स्थिति में कंडम है ना तो इस 12 BC 0740 ऑटो का परमिट है ना ही कोई बीमा पॉलिसी 25 से 30 बचचो को ठुसकर भरा जा रहा  यदि किसी भी प्रकार की घटना घट जाती तो इसका जवाबदार कौन होगा सारी जानकारियों का  जवाब मांगते ग्रामीण जन नाम ना छापने की शर्त पर ग्रामीणों ने बताया कि कई वर्षों से हरि ओम पब्लिक स्कूल यहां संचालित की जा रही है जिसमें बच्चों के लिए ना तो सही तरीके का भवन बनाया गया है और ना ही खेल मैदान के लिए समुचित व्यवस्था की गई है 2 कमरों में स्कूल को संचालित किया जा रहा है कई बार उच्चाधिकारियों को भी शिकायत की गई परंतु सब मामला सेटिंग के तहत खत्म कर दिया जाता है और कोई कार्यवाही नहीं की जाती है शिक्षा नियमों की सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है और देखा गया कि स्कूल की फीस भी बहुत महंगी है वह स्कूल में इंग्लिश माध्यम की पुस्तकों से पढ़ाया जा रहा है जहां स्कूल में शिक्षा दे रहे हैं शिक्षकों की योग्यता पर भी सवाल उठाए गए


Post A Comment:

0 comments: