बड़वानी~जिला स्तरीय मतदाता जागरूकता प्रतियोगिताएं सम्पन्न~~

कलेक्टर श्री अमित तोमर ने किया प्रविष्टियों का अवलोकन~~

अनिवार्य मतदान से बनेगा भारत और मजबूत लोकतंत्र - रवीना~~

नर से नहीं है कम नारी, हर बार करेगी मतदान भारी - कोमल~~

बड़वानी /मतदान अनिवार्य बनाया जाना चाहिए। जब शत प्रतिषत मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे तो दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र मजबूत होगा। साथ ही ये प्रावधान भी किये जाने चाहिए कि जो मतदाता बीमारी या किसी अन्य अपरिहार्य कारण से मतदान करने में असमर्थ हैं तो उन्हें छूट दी जानी चाहिए। ये बातें मतदान की अनिवार्यता पर हुई वाद-विवाद प्रतियोगिता में पक्ष में प्रथम स्थान पर रही रवीना मालवीया ने कहीं। दूसरी ओर विपक्ष में प्रथम रहे राहुल भंडोले ने कहा कि अनिवार्यता के स्थान पर प्रेरणा का ज्यादा महत्व है। देष में ऐसा वातावरण बनाया जाये कि मतदाता स्वेच्छया गर्वपूर्वक अपने मताधिकार का उपयोग करें। यह आयोजन प्राचार्य डाॅ. आर. एन. शुक्ल के मार्गदर्षन में  शहीद भीमा नायक शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, बड़वानी के स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्षन ने किया। आयोजन प्रभारी डाॅ. मधुसूदन चैबे ने बताया कि जिला स्तरीय मतदाता जागरूकता प्रतियोगिता में बड़वानी, सेंधवा, अंजड़ और निवाली काॅलेज के छात्र-छात्राओं ने भाग लिया।  कलेक्टर श्री अमित तोमर ने प्रतियोगिता में बनाये पोस्टर, स्लोगन और सहभागियों द्वारा लिखे गये निबंधों का अवलोकन करके उन्हें स्तरीय बताया।
हुईं कुल चार प्रतियोगिताएं
कार्यकर्ताओं प्रीति गुलवानिया, जितेंद्र चैहान और कोमल सोनगड़े ने बताया कि निबंध प्रतियोगिता, चित्रकला प्रतियोगिता, स्लोगन लेखन प्रतियोगिता एवं वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। चित्रकला के लिए आदर्ष मतदान केन्द्र, वाद विवाद के लिए ‘मतदान की अनिवार्यता’ निबंध के लिए ‘चुनाव में युवाओं की भागीदारी’ और स्लोगन के लिए ‘महिला मतदान को प्रोत्साहन’ विषय रखे गये हैं।
ये रहे विजेता
डाॅ. मधुसूदन चैबे ने बताया कि वाद विवाद में पक्ष में पीजी काॅलेज बड़वानी की रवीना मालवीया प्रथम, पीजी काॅलेज सेंधवा की अंजना पंवार द्वितीय, शासकीय महाविद्यालय निवाली के तरूण मंडलोई तृतीय स्थान पर रहे। विपक्ष में बड़वानी के राहुल भंडोले प्रथम और सेंधवा के कानसिंह कनोजे द्वितीय स्थान पर रहे।
स्लोगन प्रतियोगिता में बड़वानी की कोमल सोनगड़े प्रथम, निवाली के बंषीलाल किराड़े द्वितीय और सेंधवा के रोहित गिरासे तृतीय स्थान पर रहे। कोमल सोनगड़े द्वारा महिला मतदाता जागरूकता पर लिखे गये स्लोगन बहुत पसंद किये गये। ये हैं-  लोकतंत्र है हम सबका गहना, वोट देने जाना बहना। और नर से नहीं है कम नारी, हर बार करेगी मतदान भारी।
चित्रकला प्रतियोगिता में निवाली के रामेष्वर सोलंकी प्रथम, बड़वानी की कोमल सोनगड़े द्वितीय और सेंधवा के आदर्ष सोनी तृतीय स्थान पर रहे।
निबंध प्रतियोगिता में सेंधवा की सलोनी पालीवाल प्रथम, बड़वानी के नानसिंह डावर द्वितीय तथा अंजड़ के रवीन्द्र सिंह तृतीय स्थान पर रहे।
इन्होंने किया निर्णय
निर्णायक मंडल में डाॅ. भगतसिंह चैहान, डाॅ. अनिल सोलंकी, प्रो. भेरूसिंह जमरे, प्रो. ज्योति जोषी उपाध्याय, प्रीति गुलवानिया और ग्यानारायण शर्मा सम्मिलित थे। इन्होंने निर्णय देने के साथ ही सहभागियों को मार्गदर्षन भी दिया। डाॅ. एम.  एल. गर्ग सहित अनेक विद्यार्थी सम्मिलित हुए।


Post A Comment:

0 comments: