*मनावर ~पीएससी से सचिव रेणुपंत की विदाई विवादित प्रश्न पड़ा भारी*~~
            
*मप्र में जयस संगठन ने किया था भारी विरोध* ~~
                                    
*आदिवासी समाज की जीत हुई जयस के राष्ट्रीय संरक्षक एवं विधायक डॉ हीरालाल अलावा* ~~                    

निलेश जैन मनावर ~~

म:प्र: लोकसेवा आयोग (पीएससी) सचिव पद से रेणुपंत को हटा दिया गया है । सामान्य प्रशासन विभाग ने गुरुवार दोपहर बाद आदेश जारी किया। पंत को मंत्रालय में ओएसडी बना दिया गया है । तुरत - फुरत में पंत को रिलीव कर दिया गया। एडीएम दिनेश जैन को पीएससी सचिव का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। जैन इससे पहले पीएससी में उपसचिव रह चुके हैं। राज्यसेवा परीक्षा में भील जनजाति को लेकर पूछे प्रश्न और उस पर विवाद को पंत की विदाई की वजह माना जा रहा है । 12 जनवरी को राज्यसेवा प्रारंभिक परीक्षा में पूछे गए गद्यांश में भील जनजाति पर आपत्तिजनक टिप्पणी की गई थी। पूरे प्रदेश में भारी विरोध हुआ था। आदिवासी संगठन जयस के साथ तमाम विधायकों ने भी लोकसेवा आयोग के अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की थी। जयस ने इंदौर में पीएससी पदाधिकारियों के खिलाफ एट्रोसिटी एक्ट में मुकदमा दायर करवाया था। पीएससी के अधिकारियों ने पुलिस की कार्रवाई के खिलाफ कोर्ट से स्थगन हासिल कर लिया था। इस सबके बीच पीएससी ने विवादित प्रश्न को डिलीट कर और बाद में उप परीक्षा नियंत्रक प्रशांत पुणेकर को हटाकर विवाद शांत करने की कोशिश की। कल गुरुवार को शाम 4 बजे बाद पीएससी ऑफिस में आदेश पहुंचा और बिना देर किए पंत को रिलीव भी कर दिया गया।


Post A Comment:

0 comments: