बड़वानी~लोक अदालत में मनमुटाव के कारण अलग-अलग रह रहे 5 दंपतियों ने पुनः थामा एक-दूसरे का हाथ~~

बड़वानी /बड़वानी में लगी नेशनल लोक अदालत में महिला परिवार परामर्श केंद्र के काउंसलरो की सफल काउंसलिंग के कारण 5 दंपतियों ने अपने मनमुटाव दूर करते हुए पुनः एक दूसरे के साथ रहने की सहमति प्रदान की है । इन दंपतियों में एक जोड़ा ऐसा भी था जो विगत 5 वर्षों से अलग, रह रहा था।
लक्ष्मी पुनः हुई सुरेश की
लोक अदालत में जिला सत्र न्यायाधीश श्री रामेश्वर कोठे की उपस्थिति में महिला परिवार परामर्श केंद्र की निरीक्षक श्रीमति रेखा यादव, काउंसलर श्रीमति अनिता चोयल, नेहरू युवा केंद्र की सुश्री शिवानी चोयल के सफल काउंसलिंग से विगत 5 वर्षों से अलग-अलग रह रहे, दो बच्चों के पिता श्री सुरेश ने अपनी पत्नी श्रीमती लक्ष्मी बाई को हार एवं मिठाई खिलाकर पुनः साथ रहने एवं अब कभी शराब नहीं पीने की कसमें खाई है। इस पुनर्मिलन से खुश पत्नी श्रीमती लक्ष्मीबाई ने भी उपस्थित समस्त लोगों को आश्वस्त किया कि वे अब अपनी तरफ से भी छोटे-मोटे वाद-विवाद में उग्र रूप नहीं दिखाएंगी।
मुस्लिम दंपत्ति भी पुनः हुए एक
लोक अदालत में अलग-अलग रह रहे मुस्लिम दंपति ने भी अपने बच्चों की उपस्थिति में एक दूसरे का हाथ थाम कर अपने मनमुटाव को अब आगे से परिवार के मध्य नहीं लाने की बात कही है। बड़वानी रहवासी श्रीमती सलमा अपने पति फारुख से अनबन के चलते, तलाक लेना चाहती थी। ऐसे में जब उनकी काउंसलिंग महिला परिवार परामर्श की काउंसलरो ने की, तब उन्हें भी एहसास हुआ कि परिवार रूपी दो पहियों की गाड़ी शंका के चलते नहीं चल पा रही है। इस पर पति-पत्नी ने न्यायाधीशों की उपस्थिति में जहां पुनः एक दूसरे का हाथ थामा वहीं अपने बच्चे को बेहतर परवरिश भी मिलकर देने का वादा किया है।


Post A Comment:

0 comments: