*अलीराजपुर~प्रदेश और जिले की विभिन्न समस्याओं के निराकरण ओर आवश्यक मांगो को लेकर भोपाल में मिले मुख्यमंत्री से प्रतिनिधि...*~~

_*शासकीय अधिकारी-कर्मचारी के हक अधिकारों के साथ बैकलॉग पदो को पंचायत चुनाव से पहले भरने की मांग*~~

*आदिवासी समाज जयस 6 लोगो का प्रतिनिधित्व मंडल मुख्यमंत्री कमलनाथ जी से मंत्रालय मे मिला*~~

✍🏻जुबेर निज़ामी की रिपोर्ट ✍🏻
अलीराजपुर 📲9993116518~~

मध्यप्रदेश में आदिवासी समाज और jays का पहली बार 6 लोगो का प्रतिनिधिमंडल वर्तमान सरकार के मान0मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ से पूर्वनियोजित तरीके से मंत्रालय भोपाल में मिला.
लगभग 1 घण्टे की चर्चा में प्रदेशभर के आदिवासियों की समस्या,उनके जमीनी मुद्दे,वर्तमान सँघर्ष ओर मांगो पर चर्चा कर एक प्रतिवेदन देकर मुख्यमंत्री कमलनाथ को अवगत करवाया और बिंदुवार चर्चा की।
       चर्चा में मान0मुख्यमंत्री द्वारा शुरुआत करते हुए समाज मे क्या ओर कैसा चल रहा है पूछा-
तो प्रतिनधिमण्डल द्वारा बताया के हमारा सँघर्ष बढ़ते जा रहा है मूलभूत सुविधाओं के अभाव में आदिवासी अपने जल-जंगल-जमीन के मुद्दों पर सँघर्ष कर रहा है ।
*अलीराजपुर जिले से नितेश अलावा द्वारा एक मांग पत्र देते हुए शिक्षा स्वास्थ्य,रोजगार की समस्या है पलायन बढ़ रहा है कही गाँव के आधे से अधिक लोग बाहर हो रहे है,आज बेरोजगार युवा बैकलॉग की प्रतीक्षा में अपनी उम्र खतम कर रहा है,इसलिए पंचायत चुनाव के पहले बैकलॉग पदों की भर्ती करने की मांग की,*
_आदिवासी समाज मे नशाखोरी की वजह दारू के बढ़ते ठेके है,आदिवासी समाज मे बाहरी लोगों के आने से आदिवासियों की संस्कृति,सभ्यता,परम्परा सब प्रभावित हो रही है।_
# 5वी अनुसूचित क्षेत्र 244(1),13(3)क ओर
मान0सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट अनुसार आदिवासी क्षेत्र में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश,व्यापार, व्यवसाय पर बिना ग्रामसभा की इजाजत के मनाही है किंतु आज बाहरी गैर आदिवासियों ने आदिवासी क्षेत्रों में कब्जा कर लिया है और उनके जल-जंगल-जमीन-खनिज संपदा पर शासन-प्रशासन,ठेकेदारी प्रथा से कब्जा जमा लिया है
आज अपनी ही जमीन पे आदिवासी मजदूर बनते जा रहा है इसे बन्द कर,
# 5वी अनुसूची को अमल में लाने,जिसकी जमीन उसका खनिज के तहत मालिकाना हक ओर शेयर देने,
# वनाधिकार पट्टा सही समय और उपलब्ध करवाने,
# सरदार सरोवर बांध से डूब प्रभावित शेष लोगो के पुनः सर्वे कर मुआवजा, जमीन के बदले जमीन देने की मांग,
*# सभी आदिवासी बाहुल्य जिले में जिला,तहसिल,ब्लॉक स्तर पर कम से कम 0.10 हेक्टेयर भूमि आवंटित कर सर्वसुविधयुक्त सामुदायिक भवन बनाने,*
# _आदिवासी क्षेत्रों में बढ़ते कुपोषण,सिकलसेल,सिलकोशिसजैसी समस्याओं से निजात पाने के लिए धार-झाबुआ-बड़वानी अलीराजपुर के मध्य एक सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पताल को खोलने की मांग की है जिसमे देश के सर्वश्रेष्ठ डॉ0की भर्ती की जाए साथ ही जिला सिविल अस्पताल में स्टाफ ओर डॉ0की संख्या बढ़ाने भर्ती करने की मांग की,_
# शिक्षा के क्षेत्र में अलीराजपुर जिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में विधि,माइक्रोबाइलॉयजी,बायोटेक जैसे सब्जेक्ट देने और धार-झाबुआ-अलीराजपुर के मध्य क्रांतिकारी,जननायक टंट्या भील के नाम पर स्थापित करने की मांग की।
_ओर प्रत्येक महाविद्यालय में बालक-बालिका सर्वसुविधायुक्त छात्रावास निर्माण करने की मांग की गई,_
_# समाज मे बढ़ती नशाखोरी के बचाव हेतु आदिवासी बाहुल्य जिलों में शराब ठेके बन्द करने की मांग की,_
# गलत तरीके से कब्जे में की गयी आदिवासियों कि जमीन वापस आदिवासियों को देकर सविंधान का पालन किया जाए,
#आपकी सरकार द्वारा देव स्थल संरक्षित करने हेतु जो राशि दी जा रही है उसे बढ़ाकर आदिवासी समाज की परम्परा अनुसार देवो का सरंक्षण किया जावे ओर जिस तरह से पंडितों को वेतन भत्ता देने की बात हुईहै उसी तर्ज पर आदिवासी परम्परा-संस्कृति, के पालनकर्ता पुजारा,पटेल को भी सरकार भत्ता दे,
# मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजनांतर्गत आदिवासी क्षेत्रों में आदिवासियों की शादी आदिवासी परम्परा अनुसार ही करवाई जाए इससे आदिवासी संस्कृति का सरंक्षण होगा और धर्मान्तरन पर अंकुश लगेगा।
# शासकीय संसाधनों को मजबूत किया जाए और निजीकरण पर प्रतिबंध लगाया जाए।
# वर्ग 02 में सीट कम होने से हजारो क़वालिफाई छात्रों का भविष्य अधर में लटका है जिसे सीट बढ़ाकर आवश्यक भर्ती करने की मांग की।
  *माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा चर्चा के दौरान स्पष्ट रूपसे कहा गया के आप लोग अच्छा कंकर रहे हो आदिवासियों को मुह चलाना सीखना आवश्यक है इसी की वजह से वो पीछे रह गया है उन्होंने आश्वस्त करते हुए मुख्य निजी सचिव ओर पहले अलीराजपुर जिला कलेक्टर श्री चंद्रशेखर बोरकर को बुलाकर मांग पत्र लिया और इसके सन्दर्भ में आवश्यक कदम उठाने के निर्देश देकर कहा के आदिवासी समाज के आप प्रतिनधिमण्डल एक लिखित समस्या और उसके निराकरण सबंधी,योजना सबंधी आवश्यक योजना लिखित रूपसे बनाकर आये आप लोग जब बोलोगे मीटिंग हो जाएगी हम उसी पर काम करेंगे।*
  Jays संस्थापक विक्रम अचालिया जी द्वारा ट्राइबल सब प्लान का पैसा बन्द होने और यदि ट्राइबल के नाम पर पैसा आता है तो उसे अन्य मद में न खर्च कर सिर्फ ट्राइबल के विकाश हेतु खर्च करने का निवेदन किया, अनिल कटारा द्वारा अधिग्रहित आदिवासियों की पड़त जमीन वापस देने की बात कही।
*महेंद्र कन्नौज द्वारा शासकीय कर्मचारियों के तबादले-नोटिस देने और बेवजह बिना किसी जांच पड़ताल के निलंबन को गलत बताया ओर अलीराजपुर जिले की पिछली दो घटनाओं वकील द्वारा झूठा अपहरण दर्ज कवाकर आदिवासी परिवाजन को फ़साकर जैल भेजने ओर भाभरा के दो शिक्षकों पर एकपक्षीय,झूठी कार्यवाही से अवगत करवाते हुए कार्यवाही की मांग की जिस पर मुख्यमंत्री ने तत्काल सचिव बोरकर को कार्यवाही करने हेतु निर्देश दिए।*
मुख्यमंत्री से चर्चा उपरांत आदिम जाति कल्याण मंत्री मान0श्री ओंकारसिंह मरकाम,वन मंत्री मान0श्री उमंग सिंगार से मुलाकात कर देर रात तक चर्चा की गयी और सामाजिक मुद्दों पर चर्चा की।


Post A Comment:

0 comments: