खिलेडी/पाना~~शहीद श्री रविन्द्र सिंह राठौर के गांव पाना में संक्रमित कुत्तो का आतंक~~

जगदीश चौधरी खिलेडी 6261395702~~

  रघुनाथसिंह की पुत्री की हो चुकी है उपचार के दौरान मोत प्रशासन को आवेदन के बाद भी कोई मदद नही
ज्ञात हो की बदनावर तहसील   के ग्राम पाना में बीते माह जनवरी से पागल  सियार के द्वारा काटने से रूगनाथ सिंह राठौर की पुत्री निकिता की इंदौर एमवाय हॉस्पिटल में एक माह के इलाज के दौरान मृत्यु हो गई थी तथा करीब आधा दर्जन दुधारू पशु तथा करीब 5 कुत्ते  मर चुके थे लेकिन मरे हुए सियार तथा सियार के काटने से पागल होकर मृत जानवरों को गांव के अन्य कुत्तों ने अपना भोजन बना लिया था जिससे संभवतः गांव के अन्य कुत्ते भी संक्रमित और पागल होने लगे हैं  तथा गांव में लोगों को पागल कुत्तों का डर फैलने लगा है और पूर्व की  घटना में जन हानि  तथा पशु हानि को देखते हुए ग्रामीण लोगों ने जब शुक्रवार को एसडीम कार्यालय बदनावर में जाकर कुत्तों से सुरक्षा के लिए  आवेदन किया  लेकिन आज  तक भी बदनावर से आवारा कुत्तों को पकड़ने कोई टीम नहीं आई जिससे ग्रामीण काफी भयभीत रूप से जीवन जी रहे हैं वहीं आपको बता दें एक वयस्क व्यक्ति का इलाज अभी भी जारी है ज्ञात हो की यह पाना ग्राम अमर शहिद सूबेदार श्री रविन्द्र सिंह राठौर का गांव है तथा पूर्व में भी लकड़ी वाली पुलिया के संदर्भ में  ग्रामीणों को जल सत्याग्रह करना पड़ा था क्योकि जुगाड़ की पुलिया के कारण एक व्यक्ति की मोत हो चुकी थी। और आज फिर  जिम्मदार इस घटना के बाद संक्रमित कुत्तो से ग्रामीणों के बचाव के लिए ध्यान नही दे रहे है।
जब इस संदर्भ में जिलाधीश महोदय से चर्चा करना चाहि तो उनसे संपर्क नहीं हो पाया तथा सीईओ बदनावर से भी संपर्क करना चाहा तो संपर्क नहीं हो पाया वही पंचायत सचिव भरत सिंह राठौर का कहना है कि अगर तहसील मुख्यालय से संक्रमित कुत्तों को पकड़ने के लिए पिंजरा ओर जरूरी उपकरण नही आ जाते तब तक पंचायत विभाग भी इन कुत्तो को नही पकड़ सकता है।


Post A Comment:

0 comments: