बड़वानी~लोक अदालत के कारण अलग रह रहे दंपति पुनः हुए एक~~

मूक बधिर पत्नी को, पति ने पुनः माला पहनाकर दिलाया शराब नहीं पीने का विश्वास~~

बड़वानी /लोक अदालतें अपने उद्देश्य में पूरी तरह से सफल हो रही हैं। अब इन अदालतों में दीवानी प्रकरणों के साथ-साथ परिवार के झगड़े भी आपसी सहमति से निराकृत करवा कर अलग-अलग रह रहे दंपति, पुनः एक-दूसरे का हाथ थामकर खुशी-खुशी जीवन बिताने की कसमें खा रहे हैं।
       शनिवार को बड़वानी में लगी नेशनल लोक अदालत में जिला सत्र न्यायाधीश श्री रामेश्वर कोठे के मार्गदर्शन में पैरालीगल वालंटियर श्री सरदार सिंह, सुश्री बरखा चैबे, सुश्री अमीना खान की सफल काउंसलिंग से शादी के 8 माह पश्चात ही अलग रह रहे दंपति श्री सुनील रेंदे एवं उनकी पत्नी श्रीमती लक्ष्मी रेंदे ने जहां एक दूसरे को पुनः माला पहनाकर अपना मनमुटाव दूर करते हुए एक दूसरे का हाथ थामा है। वही इस दौरान न्यायाधीशों की उपस्थिति में पति द्वारा अब शराब नहीं पीने की कसमें खाने पर मूकबधिर पत्नी ने भी अपने चेहरे पर मुस्कराहट लाकर इस समझौते को अपनी सहमति प्रदान की है।


Post A Comment:

0 comments: