खंडवा /बीड~सिंगाजी परियोजना में कार्यरत मिल्को प्रायवेट लिमिटेंड़ आठ माह से ट्रैक्टर ट्रॉलीयों से उठाई राखड़ का नहीं कर रही भुगतान.~~

ट्रैक्टर संचालक कल कृषि मंत्री प्रभारी मंत्री विधायक को ज्ञापन देकर करेंगे कंपनी पर कार्रवाई की मांग.~~

एम पी पी जीसीएल के जवाबदार अधिकारीयो की मिल्कों पर मेहरबानी. ~~

रवि सलुजा खंडवा /बीड~~~

संत सिंगाजी ताप विद्युत परियोजना में ऐशहेडलिग साईलो से निकल रही राखड़ फेकने  का कार्य कर रही मिल्कों कंपनी द्वारा ट्रैक्टर ट्राली ओं से मजदूर द्वारा भरकर राखड़ को उठाकर अन्य जगह शिफ्ट कराया गया इस कार्य में ट्रैक्टर मालिक बंसीलाल देसला,मुकेश कुमार नागर, रोमी सलूजा सहित ठेकेदारों ने मिल्को कंपनी को अपने ट्रैक्टर किराए पर दिए थे विगत 8 माह बीत जाने के बाद भी मिल्को कंपनी ने आज दिनांक तक उन ट्रैक्टर- ट्राली मालिकों  कराए गए काम का भुगतान नहीं दिया गया कई बार हमने मिल्को कंपनी के प्रबंधन से भुगतान की मांग की गई परंतु एमपीपीजीसीएल का हवाला देकर उन्होंने भुगतान नहीं किया गया राखड़ भरने के लिए जिस मजदुरों से काम कराया गया उन मजदूर का भुगतान तक ट्रैक्टर  वाहन मालिकों को देना पडा .जिससे क्षेत्रीय ठेकेदारों में भारी आक्रोश है वह ट्रैक्टर वाहन मालिकों  मैं  काफी रोश पनप रहा है  उनका कहना है कि कई बार हमने एम पी पी जी सीएल के जवाबदार अधिकारीयो को  भुगतान ना मिलने के संबंध में अवगत कराया गया परन्तु जवाबदार अधिकारियों ने एक ना सुनी  एम पी पी जी सीएल की मिल्कों कंपनी पर मेहबानी समझ से परे इसलिए आज हमारे क्षेत्र में  पधार रहे  मध्य प्रदेश कैबिनेट सरकार के कृषि मंत्री सचिन यादव, खंडवा जिले के प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट,क्षेत्रीय विधायक नारायण पटेल को पत्र के माध्यम से अवगत करा कर  ट्रैक्टर मालिकों का रोके गए भुगतान को लेकर काम करवाने वाली कंपनी मिल्को प्रायवेट लिमिटेड़  पर कारवाई की मांग की जाएगी .वही जवाबदार एमपीपीजीसीएल अधिकारियों पर ध्यान ना देने पर जवाब मांगा जाए एम पी पी जी सी एल के अधीन ठेके पर कार्य को लेकर मिल्कों कंपनी संपादन करती है तो क ई बार शिकायत करने पर मिल्को कंपनी के बिलों से कटोती करके आठ माह से रूके हुए वेतन का भुगतान करना चाहिए था पर
आपसी  सेटिंग तालमेल वह सांठगांठ  के चलते मिल्को आज भी सिंगाजी परियोजना में अव्यवस्था में काम कर रही है वहीं क्षेत्र के लोगों का अटका पड़ा लंबे समय से भुगतान नहीं करना जबकि हर माह मिल्को कंपनी को भुगतान परियोजना से किया जा रहा है यही कार्य यदि लोकल व्यक्ति ठेकेदार द्वारा किया जाता तो अधिकारी कार्रवाई करने का डर बताने लगते पर  मिलकों कंपनी पर कार्रवाई नहीं करना कई सवालों को जन्म देता है


इनका कहना -

हमने मिल्कों  कंपनी के मैनेजर को बुलाकर बोला है कि रुके गए ट्रैक्टर ट्राली के ठेकेदार का भुगतान जल्द किया जाए एमपीपीजीसीएल के द्वारा अभी कुछ बिलों का भुगतान करना है जैसे ही फंड आता है भुगतान होने के बाद मिल्को कंपनी से जिन भी ठेकेदारों का रुका हुआ भुगतान है जल्द से जल्द करा दिया जाएगा .

वीके कैलासिया चीफ इंजीनियर संत सिंगाजी पांवर परियोजना दोगालिया

इनका कहना - कराए गए काम की फूटी कोठी भी एमपी पी पी जी एल के द्वारा हमें भुगतान नहीं की गई है कंपनी एलएनटी की गलती से यह राखड गिरी थी और जिसका भुगतान हमारे सर थोपा गया है हमें अभी तक एमपीपी जी सीएल के द्वारा कोई भुगतान नहीं किया गया है हमने उच्च अधिकारियों को अवगत करा दिया है तीन-चार दिनों में जिन ठेकेदारों का ट्रैक्टर ट्रालीओं का भुगतान  रुका है वह कर दिया जाएगा.

एस के मन्ना प्रोजेक्ट मैनेजर मिल्को प्राइवेट लिमिटेड कंपनी संत सिंगाजी पांवर परियोजना दोगालिया


Post A Comment:

0 comments: