*रिंगनोद~परिवार के समस्त सदस्य महत्वपुर्ण सभी को समान प्रेम और स्नेह दो पुत्र और पुत्री मै कोई भेद नही हजार पुण्यो से बेटा तो लाखो पुण्यो से बेटी और पूर्वजन्म पुण्यो से मिलता है संतान सुख*~पं विनोद शर्मा *~~

पैश हुई सामाजिक सौहार्द्र की मीसाल मुस्लिम समुदाय के वरिष्ठ सब्बन मो कुरैशी ने कीया कथावाचक का सम्मान साथ ही समस्त समाजजनो ने भी किया सम्मान~~

विश्वशांति की कामना से किया गया पूर्णाहुती यज्ञ कथावाचक और श्रोताओ की  आंखो से मार्मिक प्रसंगो को सुन बही अश्रुधारा हुआ कथा समापन सुदामा और प्रभु को गलत ना कहै ये उनकी लिलाएँ थी *~~

अनुराग डोडिया रिंगनोद~~

आदैश वर्मा परिवार द्वारा 02/02/2020 से 08/02/2020 तक श्री मती मोतीबाई नारायण भाटी की स्म्रति मै  मंगलम गार्डन गढी वाले हनुमान मन्दिर के पास दोपहर 11 से 3 बजे तक आयोजित संगीतमयी श्री मद् भागवत कथा के अन्तिम दिवस रतलाम जिला के भदवासा से पधारे मार्मिक सुगम सरल  और आकर्षक कथावाचक पं. विनोद जी शर्मा ने सातो दिवस मार्मिक भगवत कथा और भजनो के माध्यम से श्रोताओ धर्मालुओ को भगवत भक्ति आनन्द दिलवाया ज्ञान की बातो से सभी को कृतार्थ किया अन्तिम दिवस भक्तो और स्वयं कथावाचक की आंखो से भी मार्मिक कथा सुनकर अश्रुधारा बह गयी सभी भक्ती मै मगन हुए सुबह यजमान और आयोजको द्वारा विश्व शांती और कथा पूर्णाहुती महायज्ञ किया गया और अंत मै महाआरती और महाप्रसादी वितरण किया गया अंतिम दिवस होने से कथा श्रवण करने वालो कि संख्या प्रतिदिन से अधिक थी ईससे पूर्व कल भगवान श्री कृष्ण द्वारा रुख्मणी हरण और प्रभु विवाह और शिशुपाल की कथाए सुनाई आज की महाप्रसादी आयोजक और श्रद्धालु तथा नागेश्वरी भक्त मण्डल की और से रखी गयी कथा समापन पर प्रेस क्लब रिंगनोद की और से संरक्षक श्याम माहेश्वरी राजपुत समाज  पाटिदार समाज सिर्वि समाज नागेश्वरी भक्त मण्डल रींगनोद सहित समस्त श्रद्धालुओ  द्वारा कथावाचक को भैंट शाल श्री फल साफा ईत्यादि भेंट कर आशिर्वाद लिया वही सामाजिक एकता की मीसाल पैश करते हुए सेवा निवृत्त शिक्षक मुस्लिम समुदाय के वरिष्ठ सब्बन मो कुरैशी द्वारा भी पाण्डाल पहुंच कथा श्रवण कर कथावाचक का शाल श्री फल और मोतीयो की माला भैट कर सम्मान कर आशिर्वाद लिया आयोजक पृरिवार द्द्वारा कथावाचक सभी वाद्य वादक और वरिष्ठ बुजुर्गो सभी समाज के वरिष्ठो और मिडिया के सक्रिय सहयोग के लिए सम्मान कर धन्यवाद दिया एव ग्रामवासीयो ने कोई गलती हुई हो तो क्षमा मांग पुनः पधारने का निवेदन कथावाचक और वादको से किया कथावाचक ने श्रद्धालुओ से शांति और प्रेम से रहकर धर्म दान करने चाहै हमे ना दो कही भी दान करे और अपने पुण्यो को अर्जित करे यह आगामी जन्म मै अवश्य मिलता है सभी की आंखे विदाई समापन अवसर पर भर आई पुरा पाण्डाल भक्ति से भर गया कथावाचक ने कहा ईतने अच्छे श्रोतागण पहली बार मिले साथ ही अपनी आगामी श्री मद् भागवत कथा जो कि 11/03/2020 से दलपुरा राजगढ आई माता मन्दिर चौक मै आयोजित होगी मै अधिक से अधिक संख्या मै सपरिवार पधारने और धर्म लाभ लैने की अपिल की पूर्णाहुती और महाआरती तथा महाप्रसादी वितरीत कर कथा समापन हुआ


Post A Comment:

0 comments: