।।  *सुप्रभातम्*  ।।
               ।।  *संस्था  जय  हो*  ।।
        ।।  *दैनिक  राशि  -  फल*  ।।
        आज दिनांक 05 मार्च 2020 गुरुवार संवत् 2076 मास फाल्गुन शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि दोपहर 01:18 बजे तक रहेगी उपरांत एकादशी तिथि लगेगी । आज सूर्योदय प्रातः काल 06:46 बजे एवं सूर्यास्त सायं 06:28 बजे होगा । आद्रा नक्षत्र प्रातः 11:21 बजे तक रहेंगा पश्चात पुनर्वसु नक्षत्र आरंभ होगा । आज का चंद्रमा मिथुन राशि में मध्य रात्रि पश्चात 03:19 बजे तक भ्रमण करते हुए कर्क राशि में प्रवेश करेंगे । आज का राहू काल दोपहर 12:17 से 01:04 बजे तक रहेंगा । अभिजित् मुहूर्त दोपहर 02:08 से 03:36 बजे तक रहेंगा । दिशाशूल दक्षिण दिशा में रहेंगा यदि आवश्यक हो जीरा का सेवन कर यात्रा आरंभ करें । जय हो

                 *ज्योतिषाचार्य*
          डाँ. पं. अशोक नारायण शास्त्री
         श्री मंगलप्रद् ज्योतिष कार्यालय
245,एम.जी.रोड (आनंद चौपाटी )धार ,एम.पी.
                  मो. नं.  9425491351

                   *आज का राशि फल*    

          मेष :~ आज आप का दिन शुभ फलदायी होगा। विचारों में अति शीघ्र परिवर्तन आने की वजह से महत्त्वपूर्ण कार्यों में अंतिम निर्णय लेना सरल नहीं होगा, किसी भी महत्त्वपूर्ण निर्णय आज न ले। कार्य के संदर्भ या किसी विशिष्ट कारण से यात्रा के योग हैं। लेखनकार्य के लिए अच्छा दिन है। बौद्धिक एवं तार्किक विचार विनिमय हो सकता है। किसी भी महिला के साथ विवाद में न उतरें।

          वृषभ :~ अर्निणय वाली मनोदशा के फल स्वरूप हाथ आए अवसर आज आप गवाँ सकते हैं। समझौता करने की वृत्ति रखोगे तो किसी से संघर्ष नहीं होगा। प्रवास को टाले । लेखक, कलाकार एवं सलाहकारों के लिए दिन बहुत अनुकूल है। किसी नए कार्य का प्रारंभ आज न करें।

          मिथुन :~ स्वादिष्ट व उत्तम भोजन, सुंदर वस्त्रालंकार एवं सज्जा तथा मित्रों एवं परिवारजनों के साथ से आज का दिन मानसिक दृष्टि से अत्यंत आनंददायी होगा। स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। धन का अधिक व्यय न हों ध्यान रखें । उपहार मिलने से मन आनंदित होगा। निषेधात्मक विचारों को मन में न आने दे।

          कर्क :~ सम्बंधिजनों से मनमुटाव के प्रसंग हो सकते हैं। पारिवारिक कार्यों के पीछे व्यय होगा। वाणी पर संयम रखें । मन में अगर कोई भ्रांति हो तो स्पष्टता करनी आवश्यक है। स्वास्थ्य का ध्यान रखें । मानहानि एवं धनहानि से बचें ।

         सिंह :~ मित्रों व स्त्री मित्रों से लाभ होगा। किसी सुंदर स्थल के पर्यटन की संभावना है। अनिर्णायक्ता के कारण हाथ आया अवसर जा सकता है, जिस कारण महत्त्वपूर्ण निर्णयों को टाले। अधिकतर समय विचारों में व्यस्त रहेंगे। व्यापार एवं आर्थिक लाभ के योग हैं।

          कन्या :~ आज का दिन शुभ फलदायी है। नए कार्य के आयोजन संपन्न होंगे। व्यापारीवर्ग एवं नौकरीपेशा लोगों के लिए भी समय बहुत अच्छा है। व्यापार में लाभ एवं नौकरी में पदोन्नति के योग हैं। पिता से लाभ होने की संभावना है। परिवार में आनंद का वातावरण बना रहेगा।

          तुला :~ नौकरी व व्यापार में सहकर्मियों से पूर्ण सहयोग नहीं मिलेगा। लंबी यात्रा व किसी धार्मिक स्थल पर जाने का आयोजन हो सकता है। लेखनकार्य एवं बौद्धिक क्षेत्र में आप सक्रिय रहेंगे। विदेश से मित्रों व स्नेहीजनों के समाचार मिलने से आनंद की प्राप्ति होगी। शारीरिक अस्वस्थता का अनुभव होगा।

          वृश्चिक :~ आज का दिन शांतिपूर्वक व सावधानीपूर्वक रूप से बिताए । नए कार्यों में असफलता प्राप्त होने के योग हैं, इसलिए कोई नया काम प्रारंभ न करें । क्रोध पर संयम रखें । सरकार विरोधी प्रवृत्तियों से दूर रहें । खर्च के बढ़ जाने से आर्थिक संकट भी खड़ा हो सकता है।

          धनु :~ आज का दिन आनंदपूर्वक बीतेगा। मनोरंजन के प्रसंग से आपका मन प्रफुल्लित रहेगा। मित्रों के साथ प्रवास, पर्यटन का आयोजन हो सकता है। लेखनकार्य के लिए दिन बहुत अनुकूल है। साझेदारी से लाभ होगा।

          मकर :~ व्यापार में विकास के लिए आज का दिन बहुत लाभकारी रहेगा। व्यावसाय में आप अपने आयोजन के अनुसार कार्य कर सकेंगे। धन की लेनदेन में भी सफलता मिलेगी। व्यापार से संबंधित कार्यो में बाधा आएगी। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। घर में सुख-शांति का वातावरण बना रहेगा। साथी कार्यकरो का सहयोग भी मिल सकता है।

          कुंभ :~ आप के वाणी तथा विचारो में शीध्र परिवर्तन होगा। बौद्घिक चर्चा में आप जुडेंगे। लेखनकार्य तथा सर्जनात्मक प्रवृत्तियो से आनंद मिलेगा। आकस्मिक खर्च की संभावना है। पाचन न होने की व अजीर्ण जैसी बीमारियों से स्वास्थ्य बिगड़ सकता है।

          मीन :~ आज आप में उत्साह तथा स्फूर्ति की कमी रहेंगी। परिवारजनों के साथ विवाद में न उतरे । शारीरिक तथा मानसिक अस्वस्थता का अनुभव होगा। कई अप्रिय घटनाओं से आपका मन खिन्न रह सकता है। नौकरी में चिंता रहेगी। धन तथा कीर्ति की हानि न हो इसका ध्यान रखें । ( डाँ. अशोक शास्त्री )

।।  शुभम्  भवतु  ।।  जय  सियाराम  ।।
।।  जय  श्री  कृष्ण  ।।  जय  गुरुदेव  ।।


Post A Comment:

0 comments: