बड़वानी~सिर्वी समाज  ने किया 52 गाँवो में गणगौर पर्व सीमित रूप से मनाने का निर्णय ~~

बड़वानी / कोरोना वायरस की महामारी को देखते हुए सिर्वी समाज ने अपने सिर्वी समाज के 52 गाँवो के सकंल पंचै व् नगर अध्यक्ष के साथ वरिष्ठ समाज बन्धुओ ने बैठक करके  गणगौर पर्व  पर फूल पाती नही लाना, सामूहिक भोज नही करना, माता के ज्वारे घर-घर से एकत्रित  कर विसर्जन करने का निर्णय लिया है। जिससे एक स्थान पर अधिक भीड़ एकत्रित नही हो ।
सिर्वी समाज ने कोरोना के संक्रमण के चलते इस बार गणगौर पर्व घरों में ही मनाने का निर्णय लेते हुए विशेष निर्देश जारी किए है । सिर्वी समाज द्वारा कोरोना वायरस की आपदा को मद्देनजर रखते हुए सर्व-सम्मति से निर्णय लिया है, कि इस वर्ष गणगौर का पर्व घरों के भीतर ही मनाया जाएगा । पाती लाने के आयोजन नही किए जायेंगे । सामूहिक भोज के कार्यक्रम भी नही होंगे ।गणगौर पर्व की पूजा सभी अपने-अपने निवास पर व्यक्तिगत रूप से करेंगे । साथ ही माता के ज्वारों को विसर्जन के लिए घर-घर से इकट्ठा कर विसर्जन किया जाएगा ।
क्षत्रिय सिर्वी समाज जिला अध्यक्ष श्री दिनेश चैधरी व महिला मंडल जिला अध्यक्ष श्रीमती अनिता चोयल ने समाजजनों से अपील की है, कि वे अपने संबंधियो के घर आयोजित होने वाले गणगोर या अन्य किसी भी प्रकार के आयोजन में शामिल होने से बचें ।


Post A Comment:

0 comments: