हरदा~ हंडिया पंचायत के खाते में ₹526 कैसे होगी भोजन और मार्क्स की व्यवस्था~~

ना सेनेटाइजर का छिड़काव हुआ  ना ही सफाई व्यवस्था नालियों में हो रही गंदगी की भरमार~~

अंकुश विश्वकर्मा हरदा ~~


हरदा/ हंडिया ।  पंचायत राज संचनालय की ओर से जारी आदेश में कोरोनावायरस निपटने के लिए ग्राम पंचायतों को 14 वे वित्त मद से ₹30000 खर्च करने के निर्देश दिए हैं इसमें पंचायत के अंतर्गत आने वाले गरीबों की भोजन व अन्य सामग्री के साथ कोरोनावायरस की रोकथाम के लिए राशि खर्च की जानी है लेकिन यह राशि अभी तक ग्राम पंचायत के खाते में नहीं डाली गई है इससे इंडिया पंचायत क्षेत्र में भोजन आदि की व्यवस्था शुरू नहीं हो पाई है पंचायत सचिव ने बताया कि ग्राम पंचायत के खाते में महज 526 की राशि से से ऐसे में यहां नर्मदा तट होने से बड़ी संख्या में आए परिक्रमा वासियों को भोजन कराने के लिए राशि की व्यवस्था करना टेढ़ी खीर हो जाएगा। नगर के युवा गौरव तिवारी  ने बताया कि नगर में कोरोना वायरस को देखते हुए सेनेटाइजर का छिड़काव भी नही हो पाया है।

ना सेनेटाइजर का छिड़काव ओर ना ही सफाई व्यवस्था नालियों में हो रही गंदगी की भरमार

देश ही नही दुनिया के कई देशों में कोरोना नामक संक्रमण तेजी से फैल रहा है इसको देखते धार्मिक नगरी हंडिया में प्रशासन के द्वारा ना तो ग्राम में साफ -सफाई पर ध्यान दिया जा रहा है और नाही सेनेटाइजर का छिड़काव किया जा रहा है जब हमारी टीम ने ग्राम के वार्डो  में देखा गया तो नालियों में गंदगी का अम्बार देखनो को मिला जिससे संक्रमण अधिक फैलने की संभावना है  सरपंच प्रतिनिधि से इस सबंध में चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि पंचायत के खाते में सिर्फ 526 रु ही शेष बचे है ओर कोई फंड भी अभी हमारे पास अभी नही आया है पंचायत के अंतर्गत नर्मदा घाट व धर्मशालाओ में कई परिक्रमावासी व ग्राम में कई गरीब परिवार है जिनको भोजन में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।


Post A Comment:

0 comments: