पाटी~आदिवासी संस्कृति भोगरिया हाट का रंग कुर्राट के साथ खूब जमा,~~

कमल खरते पाटी~~

पाटी:- भोगरिया हाट के तीसरे दिन में उमड़ी भीड़। आदिवासी संस्कृति का प्रतीक भगोरिया हाट का धूमधाम से गुरुवार को सम्पन्न हुआ। पाटी क्षेत्र के भोंगर्या हाट में कई छोटे-छोटे गांव से बच्चे , नवयुवा व बुजुर्ग एवं महिलाऐ भोंगर्या हाट का रंग देखने आए, आदिवासी पारंपरिक परिधान में हाथ में दिखाई दिए। नव युवाओं में पिछले 8 वर्षों से लगातार आ रहा पोशाक परिवर्तन के साथ अब नए तौर-तरीकों में शिक्षा व उच्च पढ़ाई के चलते साथ-साथ ज्ञान व इस दौर के चलते नए तौर पर बदलाव मोबाइल पर गीत संगीत व आदिवासी गानों की धुनों पर बदलाव से युवाओं में बदलाव साथ कपड़ों में जींस , टी शर्ट व लड़कियों ने सूट सलवार को अपनी पोशाक को समझा। आदिवासी संस्कृति में ढोल व मांदल की थाप व थाली गूंज एवं बांसुरी की धुन पर व पैरों में घुंघरू जमकर दशहरा मैदान में थिरके । यहां पर दूसरे गांवो से आए भोंगर्या हाट में 5 बड़े और 3 छोटे झूले थे। आदिवासी बच्चों सहित बड़ो ने झूलों पर बैठकर आनंद लिया। अलग अलग परिधान में समूह की टोली ने एक दूसरे को रंग बिरंगी गुलाल लगाकर भगोरिया हाट की बधाई दी। युवाओं नए वस्त्र कुर्ता पायजामा पहने सर पर सफेद टोपी गले में रुमाल आंखों पर चश्मा पहने मांदल की थाप पर नाचते कुर्राट भरा इनका उत्साह दिखाई दिया।

आदिवासी क्षेत्र पाटी में गुरुवार को आदिवासी लोक संस्कृति का भोंगर्या हाट के तीसरे दिन पाटी में जमकर भीड़ उमड़ी, वनवासी ग्रामीण अपनी पारंपरिक वेशभूषा में सजधजकर भोंगर्या हाट में पहुंचे, हजारों वनवासियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवा कर ऐसा समा बांधा कि देखने वाले भी मतवाले हुए। गुरुवार को संपन्न हुए भोंगर्या हाट में आदिवासी की परंपरा का निर्वहन हंसते-नाचते - गाते किया। 12 बजे के बाद बाजार की रौनक में उमड़ी भीड़ जो शाम 4 बजे तक चली। बोकराटा रोड, बस स्टैंड, राम मंदिर चौक ,झूला मैदान पर भारी भीड़ उमड़ी रही। पाटी तहसील क्षेत्र के 45 पंचायत के लोग पाटी के तीसरे भोंगर्या हाट का आनंद लिया।
  
विधायक ने ढोल बजाकर लिया भोंगर्या हाट का आनंद  :- पाटी भोंगर्या हाट बाजार में क्षेत्रीय विधायक प्रेमसिंह पटेल ने भोंगर्या हाट में शामिल होकर ढोल बजाकर भोंगर्या हाट का आनंद लिया, वही ढोल की धुन पर खूब थिरके, साथ ही उनके साथ आये जनप्रतिनिधियों ने विधायक के साथ ढोल की धुन पर थिरकते नजर आए।

फ़ोटो स्टूडियो पर रही भीड़ :- इस बार फ़ोटो स्टूडियो वालों के पास युवक युवतियों की भीड़ फोटो खींचने के लिए अधिक थी।

कतारबद्ध दुकाने लगी:-  बस स्टैंड से लेकर बोकराटा रोड तथा राम मंदिर से लेकर बस स्टैंड तक कतारबद्ध दुकाने आकर्षक लगी रही थी। 

बांसुरी की धुन ने  भरी मस्ती की धूम पर कुर्राट भरी:- 3 ढोल की धुन पर दशहरा मैदान पर थिरके आदिवासी समाजन हाट देखने 20,000 से अधिक की संख्या में भोंगर्या हाट में आए।

युवक युवतियों टेटू बनवाते हुए:- ग्रामीण क्षेत्र से आये युवक युवती अपने हाथों में टेटू बनवाते हुए भोंगर्या हाट का आनंद लेते हुए नजर आए,

जाग्रत आदिवासी संगठन ने शराब दुकान पर दिया धरना :- सुबह 8 बजे से अवैध शराब पर रोक के लिए  संगठन के कार्यकर्ताओं द्वारा देसी-विदेशी शराब दुकान पर धरना देकर बैठे रहे। शाम 5 बजे बाद ही धरना समाप्त किया।


Post A Comment:

0 comments: