बड़वानी~भावनात्मक निकटता के साथ सामाजिक दूरी की सीख देने उकेरी प्रेरक आकृति~~

बड़वानी /अंतरराष्ट्रीय आपदा के कारण पूरा देश एकजुट होकर टोटल लॉक डाऊन के साथ कोरोना वायरस को हराने के लिए खड़ा है ।  ऐसे में हम सबका दायित्व बनता है कि सरकार के नियमों का पालन कर,  घर पर ही रहे तथा अपने मित्रों एवं परिजनों को भी घर पर ही रहने की सीख दे। 21 दिनों का यह समय देश के लिए कुछ करने के साथ-साथ स्वयं को खोजने का अवसर है तथा हमारी जिन प्रतिभाओं को  समयाभाव के कारण हम साकार नहीं कर पाए उन्हें हम अब घर पर रहकर खाली समय में पूरा कर सकते हैं।
यह कहना है आशादीप सोशल किड्स फोर्स की संयोजक कुमारी शांभवी दुबे का जिन्होंने खाली समय का उपयोग, पढ़ाई के साथ-साथ कैनवास पर कोरोना जनजागृति के लिए आकृतियां उकेर कर बताया कि कैसे हम सामाजिक दूरी रखकर कोरोना को मात दे सकते हैं।  इस दौरान उनके भाई मास्टर ग्रंथ दुबे ने भी अपनी आकृति में उन लोगों के प्रति आभार व्यक्त करने  के लिए चित्र बनाएं जो कोरोना वायरस से बचाने के लिये योद्धा के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं । उन्होंने चिकित्सक, पुलिस विभाग एवं सफाई कर्मियों की साझा सांकेतिक आकृति बनाकर एकजुटता प्रदर्शित की, वही घर को सुरक्षा चक्र बताते हुए प्रेरक संदेशों को दर्शाया है।


Post A Comment:

0 comments: