बीड़~सिंगाजी परियोजना स्क्रीन गन की बटन हुई खराब बटन बदलकर न्यू आंन आफ बटन अलग से लगाई गई.~~

मशीन की खराबी में बदलना थी मशीन गन लगा दी अलग से पांवर बटन.~~

बीड़ :-रवि सलुजा ~~

सिंगाजी परियोजना दोगालिया में कोरोना वायरस की सजगता को देखते हुए एम पी पी जी सी एल के द्वारा मशीन उपलब्ध करा कर जिसे परियोजना के सुरक्षा जवान को सौप दी यह जिमंमा स्वास्थ विभाग के पदस्थ डां का है पर डां अपने कर्तव्य से पीछे हटे और कोरोना वायरस की  परियोजना के प्रवेश द्वार पर सुरक्षा के जवानों को स्क्रीन मशीन देकर  कर प्रवेश द्रार पर जांच कराई जा रही है पंहुचने वाले व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की जा रही है गुरुवार को हुई स्क्रीनिंग जिसमें स्क्रीनिंग मशीन कुछ समय बाद बंद हो गई थी जिसकी पुष्टि परियोजना के डॉक्टर अशोक वाडंरे के द्वारा की गई थी  शनिवार को सिंगाजी परियोजना के जवाबदार हरकत में आए और शनिवार को परियोजना के मेन प्रवेश द्वार पर सुरक्षा के जवान द्वारा स्क्रीन मशीन से टेंपरेचर चेक किया जा रहा था यह वह मशीन है जो कुछ समय चलकर पूर्व के दिन में बंद हो चुकी थी तमाम जानकारी से पता लगा कि उसकी मशीन की बटन खराब पाई गई जानकारों ने उसे रिपेयर करके एक अलग से मशीन को बंद और चालू करने के लिए बटन लगा दी गई .
मध्य प्रदेश की सबसे बडी़ इस परियोजना में एक स्क्रीन मशीन भी सही तरीके की नहीं खरीद पा रहे बल्कि इस परियोजना में प्रतिमाह लाखों रुपए साफ सफाई सहित कन्य कामों मे खर्च कर दिए जाते है और एक अहम बिमारी जो पुरे देश में फैली हुई है जिससे निपटने के कोई भी नुकसे परियोजना में नही चलाए जा रहे इस परियोजना में बाहरी प्रदेशे से रोजना कर्मचारी अधिकारी और कार्य करने वाले ठेकेदार भी पंहुचते है नजदिक रह रहे क्षेत्रिय जनता को भी इस बात की चिंता सता रही है की इस परियोजना में रोजाना बाहरी क्षेत्र से व्यकति प्रवेश करता है और जवाबदारो ने अभी तक कोई उचित कदम नही उठाए गए .मशीनो से जो जांच की जा रही है वह भी सुरक्षा के जवानो के द्रारा की जा रही एमपीपीजीएल प्रतिमाह डां को भी मुहईया नही कर रही है
...............................................................................


Post A Comment:

0 comments: