*जानें क्या है गणगौर पूजा का महत्व~ज्योतिषाचार्य डाँ अशोक शास्त्री~~

गणगौर राजस्थान, मध्य प्रदेश का एक लोकप्रिय त्योहार है जो चैत्र मास शुक्ल पक्ष की तीज को आता है। मालवा के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य डाँ अशोक शास्त्री ने एक चर्चा में बताया है कि इस दिन कुवांरी लड़कियां एवं विवाहित महिलायें शिवजी और पार्वती जी गौरी की पूजा करती हैं। पूजा करते हुए दूब से पानी के छांटे देते हुए गोर गोर गोमती गीत गाती हैं। गण ‘शिव’ तथा गौर ‘पार्वती’ के इस पर्व में कुंवारी लडकियां मनपसंद वर पाने की कामना करती है। विवाहित महिलायें चैत्र शुक्ल तृतीय को गणगौर पूजन तथा व्रत अपने पति की दीर्घायु की कामना करती हैं।
           ज्योतिषाचार्य डाँ अशोक शास्त्री ने कहा कि गणगौर की पूजा में गाये जाने वाले लोकगीत इस अनूठे पर्व की आत्मा है। इस पर्व में गवरजा और ईसर की बडी बहन और जीजाजी के रूप में गीतों के माध्यम से पूजा होती है तथा उन गीतों के बाद अपने परिजनों के नाम लिए जाते हैं। राजस्थान के कई प्रदेशों में गणगौर पूजन एक आवश्यक वैवाहिक रस्म के रूप में भी प्रचलित है।
           डाँ. के अनुसार इस व्रत को करने के लिए इस दिन प्रात:काल में सूर्योदय से पूर्व उठना चाहिए, रोजाना की नित्यक्रियाओं से निवृत होने के बाद, साफ-सुथरे वस्त्र धारण करने चाहिए। एसा इसलिए होता है कि भगवान के सामने साफ मन से प्रार्थना कर सकें।
           डाँ अशोक शास्त्री ने बताया कि  पूजन से पहले कुंआरी कन्याएं सिर पर चुनी ओढ़कर लोटा रखकर घर से निकलकर बगीचें में जाती हैं और वहां साफ-ताजा पानी लोटों में भरकर उसमें हरी दूब और फूल सजाकर सिर पर मंगल गीत गाती हुई घर की ओर आती है।
          अब चौकी पर होली की राख या काली मिट्टी से, सोलह छोटी-पिंडी बनाकर उसे, पाटे-चौकी पर रखा जाता है। उसके बाद पानी से छीटे देरकर कुमकुम-चावल से पूजा की जाती है।
          सर्वप्रथम चौकी लगाकर उस पर साथिया बनाकर पूजन किया जाता है। जिसके उपरान्त पानी से भरा कलश उस पर पान के पांच पत्ते, नारियल रखते हैं। ऐसा कलश चौकी के दाहिनी ओर रखते हैं।
          घर की दीवार पर पेपर लगाकर, कुंवारी कन्या आठ-आठ और विवाहित सोलह-सोलह टिक्की क्रमश:कुमकुम, हल्दी, मेहन्दी, काजल की लगाती हैं । ( डाँ. अशोक शास्त्री )

                  *ज्योतिषाचार्य*
          डाँ. पं. अशोक नारायण शास्त्री
         श्री मंगलप्रद् ज्योतिष कार्यालय
245,एम.जी.रोड (आनंद चौपाटी )धार ,एम.पी.
                  मो. नं.  9425491351

                  *शुभम्  भवतु*


Post A Comment:

0 comments: