अंजड़ कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए अंजड के शासकीय कन्या आश्रम में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित~~

सतीश परिहार अंजड़~~

कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए अंजड के शासकीय कन्या आश्रम में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें छात्रों को कोरोना वायरस संक्रमण के बचाव के बारे में जानकारी दी गई।
चाईल्ड लाईन परियोजना अधिकारी संजय आर्य ने छात्रों को बताया कि कोरोना वायरस विषाणुओं का समूह है। इससे सामान्यतः जानवरों बीमार होते हैं। कभी-कभी यह मनुष्यों में भी संक्रमण करता है। मनुष्यों में इसके लक्षण सर्दी, खांसी, बुखार, सिरदर्द एवं गले में खराश के रूप में होते हैं। छोटे बच्चों एवं बुजुर्गों में प्रतिरक्षण की क्षमता कम होती है। यह वायरस निमोनिया, ब्रोकाइटिस जैसी गंभीर बीमारियां उत्पन्न करता है। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छींकने से हवा द्वारा फैलता है। इसके साथ ही संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क, छूने या हाथ मिलाने से भी फैलता है। ऐसे में जरूरी है कि हम संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क में आने से बचें और बार-बार साबुन से हाथ धोते रहें। सामान्य सर्दी-खांसी या बुखार होने पर चिकित्सक की सलाह लें एवं घर में आराम करें। वहीं चाइल्ड लाइन के हेलप लाइन नं 1098 सहित गुडटच बेड टच के बारे में बालिकाओं को समझाया।

पेरालिगल वालेंटियर सतीश परिहार ने
कोरोना वायरस से बचाव के बारे में बताते हुए कहा कि छींकने, खांसने तथा टॉयलेट आदि के पश्चात एवं बीमार व्यक्ति से मिलने, खाना पकाने अथवा खाना खाने से पूर्व साबुन से नियमित रूप से हाथ धोएं। इसके साथ छींकने या खांसते समय नाक एवं मुंह पर रूमाल, टिश्यू पेपर या कोहनी से ढंककर रखें। इसके अलावा संक्रमित व्यक्ति से कम से कम एक मीटर की दूरी बनाए रखें। इसके साथ ही विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा चलाई जा रही योजनाओं सहित बाल अधिकारों के बारे में विस्तार से बताया गया।
इस अवसर पर छात्रावास अधिक्षक श्रीमती सुशिला कोचक, चाइल्ड लाइन के टिम मेंम्बर गायत्री सनियर, रविन्द्र सिंग राठौड, समर्पण सेवा समुह अंजड के जोयेब आसीफ सहित अन्य ग्रुप के अन्य सदस्य व छात्राएं मौजूद रहे।


Post A Comment:

0 comments: