।।  *सुप्रभातम्*  ।।
               ।।  *संस्था  जय  हो*  ।।
        ।।  *दैनिक  राशि  -  फल*  ।।
        आज दिनांक 15 अप्रैल 2020 बुधवार संवत् 2077 मास  वैशाख कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि सायं 06:52 बजे तक रहेगी उपरांत नवमी तिथि लगेगी । आज सूर्योदय प्रातः काल 06:02 बजे एवं सूर्यास्त सायं 06:51 बजे होगा । उत्तरा षाढा नक्षत्र रात्रि 09:04 बजे तक रहेंगा पश्चात श्रवण नक्षत्र आरंभ होगा । आज का चंद्रमा मकर राशि में दिन रात भ्रमण करते रहेंगे । आज का राहू काल दोपहर 12:06 से 01:40 बजे तक रहेंगा । दिशाशूल उत्तर दिशा में रहेंगा यदि आवश्यक हो तो तिल का सेवन कर यात्रा आरंभ करें । जय हो

                  *ज्योतिषाचार्य*
          डाँ. पं. अशोक नारायण शास्त्री
         श्री मंगलप्रद् ज्योतिष कार्यालय
245, एम. जी. रोड ( आनंद चौपाटी ) धार , एम. पी.
                  मो. नं.  9425491351

                   *आज का राशि फल*  

कोरोनो जैसी महामारी को भगाना हे देश कों बचाना है , प्रधान मंत्री जी ने हाथ जोड़कर अपील की थी और आज मे भी कहता हूं आप अपने और आपके परिवार के जीवन के लिये घर से बाहर ना निकले ।

         मेष :~ कोरोनो जैसी महामारी से बचने के लिये घर मे ही रहना अनिवार्य है।

          वृषभ :~ कोरोनो जैसी महामारी से बचने के लिये घर मे ही रहना अनिवार्य है।

          मिथुन :~ कोरोनो जैसी महामारी से बचने के लिये घर मे ही रहना अनिवार्य है।

          कर्क :~ कोरोनो जैसी महामारी से बचने के लिये घर मे ही रहना अनिवार्य  है ।

         सिंह :~ कोरोनो जैसी महामारी से बचने के लिये घर मे ही रहना अनिवार्य है।

          कन्या :~ कोरोनो जैसी महामारी से बचने के लिये घर मे ही रहना अनिवार्य है।

          तुला :~ कोरोनो जैसी महामारी से बचने के लिये घर मे ही रहना अनिवार्य है।

          वृश्चिक :~ कोरोनो जैसी महामारी से बचने के लिये घर मे ही रहना अनिवार्य है  ।

          धनु :~ कोरोनो जैसी महामारी से बचने के लिये घर मे ही रहना अनिवार्य है ।

          मकर :~ कोरोनो जैसी महामारी से बचने के लिये घर मे ही रहना अनिवार्य है।

          कुंभ :~ कोरोनो जैसी महामारी से बचने के लिये घर मे ही रहना अनिवार्य है ।

          मीन :~ कोरोनो जैसी महामारी से बचने के लिये घर मे ही रहना अनिवार्य है । ( डाँ. अशोक शास्त्री )

।।  शुभम्  भवतु  ।।  जय  सियाराम  ।।
।।  जय  श्री  कृष्ण  ।।  जय  गुरुदेव  ।।


Post A Comment:

0 comments: