झाबुआ~मेघनगर प्रशासन का तानाशाही रवैया इन दिनों घर घर की चर्चा बना हुआ है*~

*प्रशासन ने फल सब्जी बेचने वालों के बाट और तराजू किये जब्त*~~

*ग्रॉसरी आइटम वालों से टकरार निजी चार पहिया वाहन में धूम्रपान रखने वालों से लाड*~~

झाबुआ से दशरथ सिंह कट्ठा की रिपोर्ट....9039452025~~

झाबुआ - देश के प्रधानमंत्री एवं  प्रदेश के मुख्यमंत्री गरीब वर्ग की लोक डाउन के कारण चिंता कर रहे हैं तो वही मेघनगर प्रशासन का तानाशाही रवैया इन दिनों घर घर की चर्चा बना हुआ है। सरकार के नियम एवं शर्तों के हिसाब से फल एवं सब्जी व्यापारी घर पहुंच सेवा दे रहे हैं। जिसका पास मेघनगर के एसडीएम साहब ने बकायदा जारी किया था इसके बाद नए पास बनाने की प्रक्रिया में भी उक्त फल एवं सब्जी व्यापारियों नए पास के लिए आवेदन दे रखा है..लेकिन मंगलवार को मेघनगर प्रशासन द्वारा फल एवं सब्जी वालों को बेवजह परेशान करके उनके तराजू बाट एवं सामान जप्त कर लिया गया जिसकी शिकायत सभी फल सब्जी व्यापारियों ने एकत्रित होकर मेघनगर विधायक एवं एसडीएम को की।अब लॉक डाउन के दौरान रोज कमा कर खाने वाले परिवारो के सामने संकट पैदा हो गया है..इस कारण छोटे व्यापारी अपने घरों पर ही थोड़ा सामान फल एवं सब्जी लाकर घर पहुंच सेवा दे रहे हैं फल सब्जी व्यापारियों का कहना है की हमें बार-बार इस तरह से परेशान किया जा रहा है जिस कारण फल व सब्जी बिक नही पाती   जिस वजह से सब्जियों को  फलों को  खराब होने के कारण सड़क पर फेंकना पड़ता है अब हमारे यहां पर खाने का संकट खड़ा हो गया है यदि हमें फल सब्जी का व्यवसाय नहीं करने दिया जाएगा तो घर में खाने का संकट खड़ा हो जाएगा या फिर प्रशासन हमारे प्रत्येक घरों में 1 माह का राशन उपलब्ध कराएं। अब बड़ा सवाल यह है कि मेघनगर प्रशासन का भेदभाव पूर्ण रवैया समझ के परे है जहां ₹500 की मात्र चालानी कार्रवाई करके बीड़ी गुटखा ले जाने वाले लग्जरी कार को छोड़ दिया जाता है वही गरीब परिवारों को बेवजह परेशान करके उनका मुंह का निवाला छीना जा रहा है यह कहां का न्याय है।

वर्जन विधायक... फल सब्जी वालों का आवेदन मुझे प्राप्त हुआ है जिस पर मैं एसडीएम एवं एसडीओपी से बात करता हूं व समश्या का समाधान कराता हु। गुटखे से भरी कार 500 रूपये में पुलिस ने चालन बनाकर छोड़ी है वह पुलिस का रवैया ठीक नहीं इसके लिए मैं कलेक्टर और एसपी से बात करूंगा।


Post A Comment:

0 comments: