अंजड़~दिनदयाल चलित अस्पताल कि टिम एवं संचालकों के साथ सरकार द्वारा सौतेला व्यवहार किया जा रहा है~~

सतीश परिहार अंजड़~~

मध्यप्रदेश में ग्रामीण क्षेत्रों में अपनी सेवा देने वाली दिनदयाल चलित अस्पताल कि टिम एवं संचालकों के साथ सरकार द्वारा सौतेला व्यवहार किया जा रहा है आज जहां मध्यप्रदेश की सभी सीमाओं पर दिनदयाल की टिम बाहर से आने वाले लोगों की कोरोना स्क्रीनिंग कर रही है, मध्यप्रदेश एम.एम.यु. संघ के प्रेसिडेंट आशीष दुबे और वाईस प्रेसिडेंट विनोद पाटीदार ने बताया दीनदयाल चलित अस्पताल  ग्रामीण क्षेत्रों में एक मात्र विकल्प के रुप में स्वास्थ सुविधाएं दे रही है दुरस्थ ग्रामीण एवं आदिवासी क्षेत्रों में कोरोना से बचाव के लिए लगातार प्रचार प्रसार कर रहै है जहां सरकार एवं हितग्राहियों के द्वारा इनके कार्य को प्रसंसनीय बताया जा रहा है वही सभी सुविधाओं से वंचित भी किया जा रहा है, नतो कंपनी के द्वारा और न ही सरकार के द्वारा इनको प्रधानमंत्री योजना के तहत 59 लाख का बिमा किया गया नहीं मुख्यमंत्री योजना के तहत इनको 10,000 कि विशेष सुविधा दी जा रही है शासन एवं कंपनी के द्वारा अभी तक नतो इनको कोई सुरक्षा किट मुहैया करवाई है और नही इनके सुरक्षा का ध्यान रखा जा रहा है पिछले चालीस दिन से लगातार दिन रात अपने परिवार से दुरी बना कर यह ल़ोग कार्य करने के बाद एवं प्रधानमंत्री के आव्हान के बावजूद संचालक को दिये जा रहै मासिक भुगतान भी विलंबत हो रहा है एवं मनमाने तरीके से काटा जा रहा है साथ ही 2017 का मासिक भुगतान अभी तक विलंबित है जिससे संचालन को निरंतर रखने में बेहद कठिनाइयों का सामना करना पड रहा है, सरकार कि इस दोहरी निति के कारण दीनदयाल चलित अस्पताल में कार्यरत डाँक्टर्स, नर्स, लैंब टेक्निशियन एवं चालक का मनोबल टुटने की कगार पर है, लेकिन फिर भी अपने कर्तव्यों को समझ कल पुरी निष्ठा के साथ कार्य किया जा रहा है


Post A Comment:

1 comments:

  1. सभी स्वस्थ सेवको को एक जैसा सम्मान मिलना चाहिए

    ReplyDelete