बड़ी खट्टाली ~रास्ते मे दिया प्रसुता ने बच्चे को जन्म ,प्रजापत समाज की महिलाओ और पुलिस कर्मियो की मदद से पहुचाया  अस्पताल~

बड़ी खट्टाली :-जहा एक और पुरे  देशभर में 21 दिन के लिए लॉकडाउन है। एसे मे लोगो का घरो से निकलना भी बन्द हे इस दौरान लोग घरों में रहकर खुद और देश का बचाव कर ​रहे हैं, मगर लॉकडाउन के कारण बड़ी खट्टाली के समीपस्थ  ग्राम मसनी की एक प्रसूता की जान पर बन आई।
गांव मसनी पुजारा फलिया की एक महिला फुंदी पति दिलीप के प्रसव पीड़ा होने पर उसके परिजनों ने उसे अस्पताल ले जाने के लिए कोई साधन नही मिलने पर व शासन के निर्देशानुसार वाहन के आवागमन पर रोक्के चलते  पैदल ही वह अपने घर से ग्राम बड़ीखट्टाली के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र आ रहे थे। तभी खट्टाली के बायपास मार्ग पर पहुचे ही थे कि ड्यूटी पर तेनात पुलिस  गुमान सिह ने महिलाओ से पूछताछ की क्या 108 पर फोन नही किया क्या जिस पर उन्होने बताया की 108 को फोन पर सूचना  तो दी पर 108 वाहन व्यस्त होने के चलते नही आ पाया जिस कारण हम पेदल  ही निकल पड़े थे की खट्टाली के  रास्ते मे ही प्रसव पीढा तीव्र हो गयी और रस्ते मे ही बेठ गये। रास्ते मे महिला  प्रसव  पीढा से कराह रही हे खबर मिलते ही आसपास की प्रजापत समाज की महिला गीताबाई प्रजापत, रमिला प्रजापत व सपना प्रजापत ने घेरा बनाकर रास्ते में ही उसका प्रसव कराया। पीड़िता के पति ने जब स्वास्थ्य केंद्र पर पहुच कर  पीड़िता को लाने के लिए साधन की मांग की परन्तु साधन नही होने से पीड़िता को खट्टाली पुलिस चौकी पर पदस्थ गुमानसिंह चौहान व नगीन सिंह कटारा की कर्तव्य के प्रति तत्परता व में स्थानीय लोगो की मदद से थैलागाड़ी पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुँचाया गया। प्रसूता ने एक बेटे को जन्म दिया। स्टाफ डॉ. ने बताया कि जच्चा और बच्चा दोनों सुरक्षित हैं।इस साहसिक कार्य के लिये जहा एक और प्रजापत समाज की महिलाओ की वाहवाही हो रही हे । वही दुसरी और  पुलिस के कार्यो की भी जमकर प्रशंसा हो रही हे।पुलिस जवानो द्वारा इस संकट की घड़ी मे भी संयम और त्याग का परिचय भी देखने को मिल रहा हे।


Post A Comment:

0 comments: