हरदा ~खिरकिया घर में क्लिीनीक का संचालन कर रहे चिकित्सक पर कार्यवाही~~

बंगाली डॉक्टर के क्लीनिक पर सुरक्षा के इंतजाम के बिना संचालित हो रहा था इलाज,प्रशासन ने किया दवाखाना सील~~

तहसीलदार ने की छापामार कार्यवाही~~

अंकुश विश्वकर्मा हरदा ~~

खिरकिया। घर में क्लिीनिक का संचालन किए जाने पर प्रषासन ने बंगाली डाक्टर को कार्यवाही की। जानकारी के अनुसार वार्ड क्र. 2 स्थिति एक कालोनी में निवारसत बंगाली डाक्टर गोविंद द्वारा घर में क्लिीनीक का संचालन किया गया। सूचना प्रषासन को लगने पर तहसीलदार अल्का एक्का, टीआई ज्ञानू जायसवाल, पटवार अविनाष भारद्वाज सहित अन्य दल मौके पर पहुंचा। जहां पर निरीक्षण के दौरान एक महिला का उपचार किया जा रहा था। इस दौरान कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए डाक्टर के पास कोई सुरक्षा साधन नही मिले। जिस पर भी कार्यवाही करते हुए अधिकारियों ने संबंधित के डिग्री दस्तावेज देखे। साथ ही मौके पर मिली दवाईयों व उपचार मंे उपयोगी की जा रही सामग्रियोे को जब्त किया गया। पटवारी द्वारा पंचनामा बनाया गया। बताया जाता है कि ग्राम झांझरी में गुरूवार को 65 वर्षीय वृद्ध महिला की मौत होने के पूर्व डाक्टर से भी उपचार लिया गया था। वही चिकित्सक द्वारा एक दिन के अंतराल में गांव में पहुंचकर घूमकर लोगो का उपचार भी किया जाता था। वृद्ध महिला की मौत के पूर्व चिकित्सक से उपचार लिया गया था। उसे प्रषासन ने संदिग्ध्य माना है। ऐसी स्थिति में मामला संदिग्ध महिला से जुड़ा होने पर एतिहात के तौर पर महिला की रिपोर्ट आने तक चिकित्सक एवं उसके परिवार को घर में ही क्वारांटाईन कर दिया गया है। साथ ही किसी भी मरीज का उपचार नही किए जाने के निर्देष दिए। हरदा जिले की खिरकिया तहसील मुख्यालय पर संचालित एक तथाकथित डॉक्टर के क्लीनिक पर कोरोना वायरस के संक्रमण के दौरान किए गए लॉक डाउन में मरीजों का उपचार करते समय सुरक्षा की अनदेखी कर उपचार किया जा रहा था।वही बीते दो दिनों पहले ग्राम नीमखेड़ा में एक वृद्ध महिला की मौत के पूर्व भी उक्त डॉक्टर के द्वारा इलाज किया गया था।जिसको लेकर प्रशासन ने तहसीलदार अलका एक्का के नेतृत्व में छापामारी की कार्यवाही कर दवाखाना सील किया गया है
छापा मार कारवाही के दौरान भी उक्त डॉक्टर्स के दवाखाने पर एक महिला का उपचार किया जा रहा था।जिसमे संक्रमण से बचने के लिए अपनाएं जाने वाले सुरक्षा के साधनों की अनदेखी कर उपचार किया जा रहा था।बीते दिनों ग्राम नीमखेड़ा में जिस महिला को कोरोना के संक्रमण से मौत होने बताया जा रहा है उसका उपचार भी डॉ गोविंद बंगाली के द्वारा किया जा रहा था।प्रशासन के द्वारा एहतियात के तौर पर मृतिका का सैम्पल लेकर जांच के लिए भोपाल भेजा गया है।जिसकी रिपोर्ट आना है।
छापा मार करवाई के दौरान तहसीलदार अलका एक्का,छीपाबड़ थाना प्रभारी ज्ञानू जायसवाल दलबल के साथ पहुँचे।तहसीलदार एक्का ने बताया कि बंगाली डॉ गोविन्द को उनके घर पर महिला का इलाज करते व ड्रिप लागते पाया।
मौके पर पंचनामा बनाया ,व ईलाज की दवाओं इत्यादि को जप्त किया गया।
कोई भी सुरक्षा व्यवस्था मास्क,ग्लब्स नही थे।हमारे द्वारा उनकी डिग्री की भी जांच की जा रही है।फिलहाल उनके क्लीनिक के सभी सामान को जप्त कर तहसील कार्यालय लाया गया है।
अलका एक्का
तहसीलदार,खिरकिया


Post A Comment:

0 comments: