भिण्ड~कृषि मंत्री कमल पटेल मंत्रालय से विधायक अरविंद भदौरिया ने अटेर की ओलावृष्टि से बर्बाद हुई फसलों पर ध्यान आकर्षित कराया~~

• किसानों  की हुई खराब फसलों का पुनः सर्वे और मुआवजा दिलाने की बात कही~~

भिण्ड से गिर्राज बौहरे की रिपोर्ट~~

भिंड | भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं अटेर विधानसभा क्षेत्र के विधायक डॉ अरविंद सिंह भदोरिया ने राजधानी भोपाल में बल्ला भवन पहुंचकर कृषि मंत्रालय में मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल से अटेर क्षेत्र में प्राकृतिक आपदा से हुई ओलावृष्टि में बर्बाद हुई फसलों पर उनका ध्यान आकर्षित कराया और उनसे विशेष चर्चा की |
विधायक डॉ अरविंद सिंह भदोरिया ने कृषि मंत्री कमल पटेल जी का ध्यान आकर्षित कराते हुए कहा कि अटेर क्षेत्र के 50 से अधिक गांव में किसानों की खेत में खड़ी सरसों , गेहूं , मटर की फसलें ओलावृष्टि होने के कारण 100% नष्ट हो चुकी है | कमलनाथ सरकार ने ना तो ठीक से सर्वे कराया था और ना ही उचित मुआवजा देने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया जबकि क्षेत्र का किसान ओलावृष्टि से काफी परेशान है | उनकी दवाई की कीमत भी पूर्ण रूप से नहीं लौट पाई है , ऐसी संकट की घड़ी में उनकी बर्बाद हुई फसलों का पुनः सर्वे कराकर और उचित मुआवजा दिलाया जाए जिससे किसान की भरपाई पूर्ण हो सके |
विधायक भदोरिया ने कहां की अटेर क्षेत्र के पीपरी सर्किल के 30 गांव अटेर के सुरपुरा सर्किल के 20 गांव सराय घार क्षेत्र के अधिकांश गांव में सरसों गेहूं मटर की फसलें पूर्ति नष्ट हो गई थी उसकी कटाई भी नहीं हो पाई पूरी की पूरी फसलें खेतों में ही गिर गई और उसमें गाना भी तक नहीं बता दाना तक नहीं बचा है |
उन्होंने प्रदेश सरकार के कृषि मंत्री पटेल से कहा कि अटेर क्षेत्र का किसान ओलावृष्टि से परेशान है और वह कोरोना वायरस संक्रमण से भी लॉक डाउन में है | किसानों के खेत पर ओला का वजन भी देखा जाए तो 500 ग्राम से अधिक वजन का उसका भार है जिससे फसल पूर्णत नष्ट हो गई हैं जिनका सर्वे राजस्व विभाग के अधिकारियों को पीड़ित किसानों के बीच पहुंचाकर दोबारा से प्रारंभ किया जाए ताकि किसान को फसलों का मुआवजा मिल सके |
विधायक भदोरिया ने कृषि मंत्री पटेल से कहा कि केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार की किसान हितैषी योजनाओं के लिए के लिए ग्रामीण अंचल में किसान शिविर लगाकर योजनाओं के बारे में बताया जा सके ताकि उन्हें उसका लाभ मिले |
• कनेरा सिंचाई योजना
विधायक भदोरिया ने कृषि मंत्री कमल पटेल से अटेर विधानसभा क्षेत्र की प्रमुख सिंचाई योजना कनेरा योजना को पुनः प्रारंभ कराने के लिए भी चर्चा की | उन्होंने बताया कि यह परियोजना लंबे समय से खराब हालत में पड़ी हुई है ,  कई बार इस योजना का संन्यास भी कांग्रेस की सरकारों में हो चुका है लेकिन यह योजना बंद होने के कारण अटेर के ऐसे कई किसान हैं जिनके खेतों में सिंचाई नहीं हो पाती और उनके खेत बंजर पड़े हुए है | केंद्र और राज्य सरकार के सहयोग से इस योजना को पुनः शुरुआत की जाए ताकि अटेर क्षेत्र के किसानों को सिंचाई के लिए इसका लाभ मिल सके |
• अटेर क्षेत्र के नदी के किनारे बसे गांव में बरसात के दिनों में किसानों को होती है दिक्कत, इसका बंदोबस्त किया जाए
विधायक भदोरिया ने कृषि मंत्री श्री पटेल का अटेर क्षेत्र के नदी के किनारे अधिकांश बसे हुए गांव पर ध्यान आकर्षित कराते हुए बताया कि बरसात के दिनों में नदी का पानी ज्यादा ऊपर आने से किसानों के खेत , गांव और घरों में आ जाता है और वहाँ बाढ़ की स्थिति उत्पन्नहो जाती है , इससे  किसानों को काफी दिक्कतें भी होती हैं | पूरा गांव पानी के बढ़ते हुए प्रकोप में आ जाता है | नदी के किनारे बसे गांव में ऐसा बंदोबस्त भी किया जा सके जिससे कि बरसात के दिनों में पानी किसानों के घरों और गांव में नहीं आ सके इससे वह अपना जीवन सुकून से व्यतीत कर सकें |


Post A Comment:

0 comments: