*शनि गुरु की महायुति, इस साल हो सकती हैं ,ये बड़ी घटनाएं* ~ज्योतिषाचार्य डाँ अशोक शास्त्री*~~

*गुरु शनि का संयोग बना, अब क्या होने वाला है , शनि गुरु का संयोग और द्वितीय विश्व युद्ध , भारत का करना पड़ा था युद्ध का सामना , अमेरिका और चीन में बढ़ेगा टकराव  , अमेरिका में आर्थिक मंदी , भारत को रहना होगा सतर्क , किसानों के लिए अच्छी खबर*ज्योतिषाचार्य डाँ अशोक शास्त्री*

*गुरु शनि का संयोग बना, अब क्या होने वाला है*

          मालवा के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य डाँ अशोक शास्त्री ने एक चर्चा में बताया है कि दिनांक 30 मार्च को गुरु के मकर राशि में प्रवेश करने पर शनि के साथ उनकी बनने वाली युति विश्व में बड़े परिवर्तनों का ज्योतिषीय संकेत दे रही है। शनि गोचर में एक राशि में ढाई वर्ष तक रहते हैं जबकि गुरु एक राशि में लगभग एक वर्ष तक गोचर करते हैं। डाँ. अशोक शास्त्री ने कहा कि ये दोनों बड़े ग्रह लगभग 19 से 20 वर्ष के बाद एक राशि में आकर मिलते हैं। इन दोनों का जब भी मिलन होता है तब विश्व में कई बड़े बदलाव और उथल-पुथल की स्थिति बनती है। इस वर्ष भी ऐसा ही संयोग बना है, ऐसे में आने वाले दिनों में क्या कुछ हो सकता है ।

*शनि गुरु का संयोग और द्वितीय विश्व युद्ध*

          ज्योतिषाचार्य डाँ. अशोक शास्त्री ने बताया कि पिछले 100 वर्षों के इतिहास पर नजर डालें तो द्वितीय विश्व युद्ध में वर्ष 1941 में गुरु-शनि की युति वृष राशि में हुई थी उस समय जापान ने अमेरिक के पर्ल हार्बर पर हमला किया था। इसके बाद अमेरिका सीधे तौर पर युद्ध में उतर गया और जापान पर परमाणु बम गिराकर जापान को भारी क्षति पहुंचायी। डाँ. शास्त्री ने आगे बताया कि ठीक 20 वर्ष के बाद गुरु-शनि की युति मकर राशि में हुई तब क्यूबा मिसाइल संकट के समय अमरीका और तात्कालिन सोवियत संघ के बीच युद्ध की ठन गयी थी।

*भारत का करना पड़ा था युद्ध का सामना*

          ज्योतिषाचार्य डाँ अशोक शास्त्री ने भूतकाल के आधार पर विश्लेषण करते हुए बताया कि भारत को तो चीन से उस समय एक भयानक युद्ध का सामना करना पड़ा था। बाद में 1980-81 में गुरु-शनि की महायुति कन्या राशि में हुई जिसने ईरान और इराक के बीच घमासान में लाखों लोगों के प्राण लील लिए। डाँ. शास्त्री के अनुसार वर्ष 2000-01 में गुरु-शनि की युति वृषभ राशि में हुई जिसने अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर हमले के बाद पूरे विश्व में उथल-पुथल मचा दी थी। अब गुरु-शनि की महायुति एक बार फिर से कोरोना संकट के समय संसार की राजनीतिक, आर्थिक और सामरिक परिस्थति को बदल देने के संकेत दे रही है।

*अमेरिका और चीन में बढ़ेगा टकराव*
          ज्योतिषाचार्य डाँ. अशोक शास्त्री के मुताबिक डोनाल्ड ट्रम्प के सत्ता में आने के कुछ समय के भीतर अमेरिका और चीन में शुरू हुए व्यापर युद्ध में अब बेहद तल्खी आ सकती है। चीन का जन्म लग्न और चंद्र राशि दोनों मकर है जिस पर गुरु-शनि का प्रभाव है। ऐसे में अगले एक वर्ष में चीन को कोरोना महामारी से जुड़े कुछ तीखे सवालों के कारण अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर शर्मिंदा होना पड़ सकता है। डाँ. शास्त्री के मुताबिक पश्चिमी देश चीन पर कुछ व्यापारिक प्रतिबंध भी लगा सकते हैं तथा चीन की नौसेना से अमेरिका की नौसेना की कुछ जगहों पर झड़प के कारण युद्ध के हालात बन सकते हैं ।

           *अमेरिका में आर्थिक मंदी*

           ज्योतिषाचार्य डाँ अशोक शास्त्री ने बताया कि अमेरिका का जन्म लग्न सिंह और चंद्र राशि कुंभ है। गुरु-शनि मकर राशि में रहते हुए लग्न से छठे और चंद्र से बाहरवें भाव को प्रभावित कर राहु की दशा में चल रहे अमेरिका को घोर आर्थिक संकट में फंसा देंगे। अमेरिका और यूरोप के देशों में उत्पादन और मांग में कमी के कारण आर्थिक मंदी गहराने लग जाएगी।

       *भारत को रहना होगा सतर्क*

          ज्योतिषाचार्य डाँ अशोक शास्त्री के मुताबिक मकर राशि का भारत के उत्तर और पश्चिम क्षेत्र पर विशेष प्रभाव है। कोरोना महामारी को नियंत्रित करने के बाद इन क्षेत्रों में आने वाले राज्यों में अशांति फैल सकती है। पाकिस्तान, अफगानिस्तान और ईरान में राजनीतिक अस्थिरता भारत को भी कष्ट देने वाली होगी। चीन के साथ भारत के संबंध तल्ख होंगे। मकर राशि में गुरु-शनि का गोचर कच्चे तेल, स्टील, लौह उद्योग, मशीनरी, वाहन और निर्माण उद्योग में विशेष रूप से एक वर्ष तक बड़ी मंदी ला सकता है। डाँ. शास्त्री ने बताया कि मल्टीनेशनल बड़ी कंपनी का दिवालिया होने के आसार हे। प्राइवेट सेक्टर की बेन्को का कमजोर होना तेय है। किसी बड़ी व्यक्तियों  का अपने बीच ना रहेने के योग भी दिख रहे है।
 
*किसानों के लिए अच्छी खबर*
          ज्योतिषाचार्य डाँ अशोक शास्त्री ने कहा कि गुरु के नीच राशि में होने के कारण सोने के दामों में उतार-चढाव बना रहेगा। वस्त्र उद्योग और प्रॉपर्टी में मंदी आएगी। मकर राशि में जल प्रधान होने से इस वर्ष अन्न का उत्पादन रिकॉर्ड होगा जो कि किसानो के लिए अच्छी खबर है। वर्षा भी इस वर्ष अच्छी होगी तथा गर्मी सामान्य से कम होगी। ( डाँ. अशोक शास्त्री )

                  *ज्योतिषाचार्य*
          डाँ. पं. अशोक नारायण शास्त्री
         श्री मंगलप्रद् ज्योतिष कार्यालय
245, एम.जी. रोड ( आनंद चौपाटी ) धार ,एम.पी.
                 मो . नं.  9425491351

            --:  *शुभम्  भवतु*  :--


Post A Comment:

0 comments: