बड़वानी~कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिये सभी समाज के प्रमुख देंगे अपना सहयोग ~~

बड़वानी / कोरोना वायरस के प्रसार के मद्देनजर घोषित टोटल लाॅक डाऊन एवं सोशल डिस्टेंस का पालन करना एवं करवाना अत्यन्त आवश्यक है। अतः हिन्दु - मुस्लिम - सिख - इसाई धर्मों के प्रमुखो से भी अनुरोध है कि वे अपने स्तर से भी लोगो को बताये एवं प्रोत्साहित करे कि वे शासन-प्रशासन के निर्देशो का पालन अनिवार्य रूप से करें। जिससे हम सब कोरोना वायरस से सुरक्षित रह सके।
कलेक्टर श्री अमित तोमर ने शुक्रवार को कलेक्टरेट सभागृह बड़वानी में आयोजित विभिन्न धर्मो के प्रमुखो की बैठक को सम्बोधित करते हुये उक्त बाते कही । बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री डीआर तेनीवार, जिला पंचायत सीईओ श्री मनोज सरियाम, अपर कलेक्टर श्रीमती रेखा राठौर सहित गायत्री परिवार के डाॅ. रमेश पंवार, बीसा नीमा समाज के सर्वश्री प्रकाश गुप्ता, निलेश गुप्ता, सिख समाज के श्री एचपीएस भाटिया, सिर्वी समाज के जिलाध्यक्ष श्री दिनेश चैधरी एवं सदस्य श्री दुधालाल चैहान, मुस्लिम समाज के श्री सादिक शेख, इसाई समाज के फादर श्री जयवंत धुलिया, बोहरा समाज के  श्री सैफुद्दीन अमीन, कोषाध्यक्ष श्री अली असगर, एसडीएम बड़वानी सुश्री अंशु जावला, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. अनिता सिंगारे भी उपस्थित थे ।
बैठक के दौरान कलेक्टर ने जहाॅ उपस्थितो को पावर पाइंट प्रोजेक्टर के माध्यम से कोरोना वायरस किस प्रकार फैलता है, उसके लक्षण क्या है, उससे किस प्रकार बचा जा सकता है, वह इतना क्यों घातक है आदि के बारे में विस्तार से बताया । वही उन्हें कोरोना वायरस के प्रसार के मद्देनजर की गई विभिन्न व्यवस्थाओं से भी अवगत कराया । साथ ही उपस्थितो को बताया कि शासन - प्रशासन अपनी तरफ से बेहतर से बेहतर व्यवस्था कर रहा है, किन्तु अगर इसमें विभिन्न समाजजनों का सहयोग नही मिला तो यह व्यवस्थाऐं उतनी कारगर नही होंगी, जितना इन्हें होना चाहिये ।
बैठक के दौरान उपस्थित अशासकीय सदस्यो ने जिला प्रशासन के पदाधिकारियों को आश्वास्त किया कि विश्व व्यापी इस महामारी को रोकने के लिये वे सब जिला प्रशासन के साथ है । शासन - प्रशासन जो भी निर्देश देगा उसका पालन समाज का प्रत्येक व्यक्ति अनिवार्य रूप से करेगा । इस दौरान विभिन्न समाजो के पदाधिकारियों ने बताया कि उन्होने कोरोना वायरस के मद्देनजर अपने समाज में कौन - कौन सी व्यवस्थाऐं की है, जिससे सोशल डिस्टेंस का पालन अनिवार्य रूप से हो सके ।
इस दौरान उपस्थित अशासकीय सदस्यों ने जिला प्रशासन के सदस्यो को आश्वस्त किया कि वे अपने स्तर से भी समाजजनों को समझायेंगे कि वे बाहर निकलने के दौरान या अत्यावश्यक सेवायें लेने के दौरान भी सोशल डिस्टेंस का पालन अनिवार्य रूप से करें  एवं सड़को पर अनावश्यक रूप से न निकले ।


Post A Comment:

0 comments: