अंजड~पैरालिगल वालेंटियर ने कुपोषित बच्चे को पहुंचाया हॉस्पिटल~~


लाकडाउन के दौरान अपने भाई के घर रह रही सपना पति मुकेश निवासी सिलावद को अपने 13 महिने के बच्चे को सडक पर अकेला जाते देख पैरालिगल वालेंटियर ने रोक कर भरी दोपहर में घुमने का कारण पुछा तब उसने अपने पति से अलग रहते हुए अपने भाई अंजड निवासी सुरेश के यहां रहना बताया और कहा कि आज भाई और भाभी ने झगडा होने के बाद मुझे घर से निकाल दिया और मेरे बेटे कि तबीयत खराब है इसे तेज बुखार आ रहा है, तभी पैरालिगल वालेंटियर सतीश परिहार तभी मौके पर पहुंचे तहसीलदार राजेश कोचले को महिला की स्थिति से अवगत करवाया तहसीलदार अंजड ने स्वयं अपने चार पहिया वाहन से महिला को आंगनवाड़ी कार्यकर्ता अलका चौहान व अन्य लोगों के साथ सिविल अस्पताल अंजड भिजवाया जहां पर बच्चे का स्वास्थ्य का परीक्षण किया गया। जांच में कुपोषित मिले बच्चे कि स्थिति नाजुक होने पर सिविल अस्पताल अंजड से प्राथमिक जांच कर इलाज के लिए एनआरसी सेंटर भिजवाया गया। जिला अस्पताल भेजने के लिए मौके पर एम्बुलेंस हाजिर नहीं होने के कारण निजी साधन से ले जाया गया। वहीं तहसीलदार श्री कोचले द्वारा सपना के भाई को बुलाकर अपनी बहन को अपने साथ रखकर आगे से झगडा नहीं करने कि हिदायत दि गई इस अवसर पर पैरालिगल वालेंटियर सतीश परिहार , चाईल्ड लाईन के परियोजना समन्वय संजय आर्य, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता अलका चौहान सहित राजस्व विभाग के कर्मचारी मौजूद रहे।


Post A Comment:

0 comments: