बड़वानी~कर्तव्य के सिंघम, करवा चौथ पर किए वादे को निभा रहे हैं चैखट के बाहर खड़े होकर~~

बड़वानी / फर्ज और वादा, कर्तव्य और सामाजिक सरोकार, पदेन दायित्व और पति धर्म, को निभाना अत्यंत कठिन होता है। किंतु जहां देश सेवा का जज्बा, जोश और होश का संगम हो वहां यह सब कुछ भी संभव हो जाता है।
    कोरोना वायरस की भयावहता  से आज जहां पूरा विश्व आक्रांत  है। ऐसे में अगर सेंधवा जैसे छोटे क्षेत्र में 13 कोरोना वायरस पॉजिटिव रिपोर्ट मिल जाए तो वहां के एसडीएम की व्यस्तता की कल्पना करना मुश्किल है ।
    सेंधवा एसडीएम श्री घनश्याम धनगर पिछले 15 दिनों से जहां सुबह 6 से रात 12 बजे तक सतत 18 घंटे काम कर रहे हैं। इस दौरान वे खाना भी जहां समय मिल जाए वही बैठ कर खा लेते हैं। कई बार तो वे सेंधवा में दूसरे राज्यों के रुकवाए गए श्रमिकों हेतु बनवाए गए खाने को ही खाकर अपनी जिम्मेदारी पर डटे रहते हैं। पिछले 15 दिनों से श्री धनगर सोशल डिस्टेंस बनाए रखने एवं अपने पदेन दायित्वों का निर्वहन समय-बे-समय करने के लिए, अपने शासकीय क्वाटर के बाहर बने एक कमरे में ही अलग रह रहे हैं। जिससे परिवार में रह रही एक मात्र सदस्य उनकी पत्नी श्रीमती हेमलता धनगर पूरी तरह से सुरक्षित रह सके।
    ऐसे समय में श्रीमती हेमलता धनगर भी पति श्री घनश्याम धनगर द्वारा पिछले वर्ष ही शादी के बाद अक्टूबर माह में पहली बार मनाए गए करवा चौथ पर लिया गया यह प्रण कि अब ऐसा जिंदगी में कोई दिन नहीं होना चाहिए जब वे अपने दिन की शुरुआत एक दूसरे का चेहरा देखे बिना करें, को ही अच्छी तरह से निभा रही है।
     इसके लिए श्रीमती धनगर अपने घर की देहरी के अंदर तो एसडीएम श्री धनगर, घर की देहरी के बाहर खड़े होकर जहां एक दूसरे को देख लेते हैं। वही एक दूसरे का कुशल क्षेम भी जान लेते हैं। साथ ही हाथ हिलाकर विदाई भी इस विश्वास के साथ लेते है कि हम सबके इन्हीं प्रयासों से हम कोरोना के वायरस पर अवश्य विजय प्राप्त करेंगे और उस दिन से पुनः पहले वाले दिन लौट आएंगे।


Post A Comment:

0 comments: