अंजड~बायोमेट्रिक मशीन को लेकर ग्रामीण और शहरी कंट्रोल दुकानदारों ने नायब तहसीलदार को दिया ज्ञापन ~~

सतीश परिहार अंजड~~


कोरोना वायरस को लेकर पूरा देश चिंतित है। इसे लेकर स्कूलों में छुट्टी कर दी गई और सरकारी व निजी संस्थानों में बायोमेट्रिक मशीन से उपस्थित भी दर्ज नहीं हो रही है, वहीं अंजड शहर  सहित जिलेभर में राशन की दुकानों पर पिओएस मशीनों का इस्तेमाल किया जा रहा है । राशन डीलरों को स्पष्ट निर्देश दिए हुए है कि वे बिना अंगूठा लगवाए किसी भी उपभोक्ता का राशन नहीं दें।
ऐसे में आमजन भी बेहद परेशान हो रहे है। आमतौर पर देखा जा रहा है कि नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों की राशन दुकानों पर भारी भीड़ लग रही है और स्वयं सेलसमेंन और तुलावटी मुंह पर रुमाल लपेटे हुए था। पिओएस मशीन के उपयोग के बाद कीटाणुरोधी तरल पदार्थ की बोतल भी नहीं दिखी। पूरे देश में कोरोना वायरस को लेकर बवाल मचा हुआ है, वहीं क्षेत्र के बडी तादात में मजदूर मजदूरी करने गुजरात और महाराष्ट्र रोजगार की तलाश में जाते है जो लाकडाउन के बाद अपने गांवों में वापस आकर अब राशन दुकानों पर लगी कतारों में देखे जा रहै है राशन की दुकानों पर उपभोक्ता द्वारा लापरवाही बरती जा रही है, जहां पिओएस मशीनों का उपयोग किया जा रहा है। वहीं प्रशासन ने अब आगे का वितरण मशिनों के माध्यम से करने के विरोध में और दिल्ली और जबलपुर में राशन दुकान विक्रेताओं के कोरोना संक्रमण के शिकार होने के बाद प्रशासन का इस और ध्यान आकृष करने के लिए बुधवार मुख्यमंत्री के नाम एक ग्यापन नायब तहसीलदार विशाखा चौहान को दिया विक्रेता कैलाश पाटीदार ने बताया कि ग्रामीण और शहरी दुकानदारों ने आज नायब तहसीलदार को ज्ञापन दिया कि वे मशीन की अनिवार्यता समाप्त करें और अन्य कोई विकल्प बताएं अथवा वितरणपंजी के माध्यम से वितरण करना सुनिश्चित किया जाये।


Post A Comment:

0 comments: